मालेगांव ब्ला’स्ट केस में प्रज्ञा ठाकुर को कोर्ट ने दिया पेशी का आदेश, छूट की अर्जी खारिज

8:37 pm Published by:-Hindi News
Bhopal: Sadhvi Pragya Singh Thakur arrives at the Madhya Pradesh BJP headquarters in Bhopal, Wednesday, April 17, 2019. BJP has fielded Thakur, an accused in the 2008 Malegaon blasts, as its candidate against Congress leader Digvijay Singh for Bhopal seat. (PTI Photo)(PTI4_17_2019_000090B)

भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को मालेगांव ब्लास्ट केस में  (NIA) की विशेष अदालत से राहत नहीं मिली है। विशेष अदालत ने आरोपी प्रज्ञा ठाकुर को निर्देश दिया है कि वह कम से कम हफ्ते में एक दिन अदालत में जरूर हाजिर हों। फिलहाल प्रज्ञा ठाकुर स्वास्थ्य कारणों से जमानत से बाहर चल रही हैं।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की विशेष अदालत ने मालेगांव ब्लास्ट केस में पेशी से छूट मांग वाली उनकी उस अर्जी को भी खारिज कर दिया। जिसमे साध्वी ने संसदीय प्रक्रियाओं को पूरा करने का हवाला देते हुए तीन से सात जून तक अपनी पेशी से छूट देने की मांग की थी लेकिन कोर्ट ने इस सप्ताह सुनवाई के दौरान उन्हें मौजूद रहने का निर्देश दिया।

प्रज्ञा के खिलाफ अनलॉफुल ऐक्टिविटीज प्रिवेंशन ऐक्ट (UAPA) के तहत मुकदमा चल रहा है। बता दें कि 29 सितंबर, 2008 में मालेगांव में एक बाइक में बम विस्फोट हुआ था। इस ब्लास्ट में 7 लोगों की मौत हुई थी और 100 से ज्यादा लोग चोटिल हुए थे।

malegaon blast

सरकार ने मामले की जांच का जिम्मा एटीएस को सौंपा था। इस मामले में 24 अक्टूबर, 2008 को स्वामी असीमानंद, कर्नल पुरोहित समेत साध्वी प्रज्ञा सिंह को गिरफ्तार किया गया था। साथ ही 3 आरोपी फरार बताए गए थे। बाद में यह जांच NIA को सौंप दी गई थी।

इसके बाद साध्वी प्रज्ञा को 9 साल कैद में रहने के बाद अप्रैल 2017 में सशर्त जमानत दी गई थी। वहीं 30 अक्टूबर 2018 को कर्नल पुरोहित, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत 7 लोगों को आतंकी रंजिश और हत्या का आरोपी ठहराया गया। प्रज्ञा ठाकुर स्वास्थ्य कारणों के चलते फिलहाल जमानत पर हैं।

Loading...

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें