मध्य प्रदेश की आलोट विधानसभा सीट पर केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत के विधायक बेटे जितेंद्र गहलोत को हार का सामना करना पड़ा। उन्हे कांग्रेस के नए नवेले चेहरे मनोज चावला ने पटखनी दी है।

बता दें कि पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, बीआलोट विधानसभा की सीट पर केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत के बेटे जितेंद्र गहलोत का प्रचार करने पहुंचे थे।

Loading...

वहीं दूसरी और कलेक्ट्रेट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के बेटे मनोज को टिकट देने के बाद कांग्रेस ने खुद उन्हें अकेला छोड़ दिया था। कोई भी बड़ा नेता उनके क्षेत्र में प्रचार के लिए नहीं गया। सिर्फ रस्म अदाएगी के लिए राज बब्बर ने उनका प्रचार किया।

bjp

इस दौरान खुद केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत भी अपने बेटे को जिताने के लिए आलोट में ही डेरा डाले रहे। बावजूद इसके केंद्रीय मंत्री नौसिखिए नेता के सामने अपनी साख बचाने में नाकाम रहे और उनके बेटे जितेंद्र गहलोत 5 हजार वोटों से चुनाव हार गए।

वहीं विधायक मनोज चावला ने इस जीत को धनबल और बाहुबल पर कार्यकर्ताओं की जीत बताया हैं। बता दें कि मध्यप्रदेश मे 15 साल पुरानी बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें