सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामलें में गुजरात के निलंबित IPS अधिकारी राजकुमार पांडियान  सीबीआई की विशेष अदालत ने बरी कर दिया है.

सोहराबुद्दीन शेख की कथित फर्जी मुठभेड़ केस में 24 अप्रैल, 2007 को आईपीएस अधिकारी राजकुमार पांडियान को गिरफ्तार किया गया था. इस मामले की जांच पहले गुजरात पुलिस कर रही थी, बाद में केस की जांच सीबीआई को सौंप दी गई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

करीब 10 साल तक चली जांच के बाद सीबीआई की विशेष अदालत ने राजकुमार पांडियान को इस मामले से बरी कर दिया. सीबीआई के मुताबिक सोहराबुद्दीन और उसकी पत्नी का गुजरात के आतंकवाद निरोधक दस्ते ने अपहरण कर लिया था. सोहराबुद्दीन और उसकी पत्नी हैदराबाद से महाराष्ट्र के सांगली जा रहे थे.

सोहराबुद्दीन की मुठभेड़ के चश्मदीद तुलसीराम प्रजापति को भी कथित तौर पर पुलिस ने फर्जी मुठभेड़ में दिसंबर, 2006 में गुजरात के बनासकांठा जिले के चापरी गांव में मार दिया था. सोहराबुद्दीन कथित मुठभेड़ मामले में राजकुमार पांडियान, डीजी वंजारा , और दिनेश एमएन को 24 अप्रैल, 2007 को गिरफ्तार किया गया था. वंजारा फिलहाल जमानत पर बाहर हैं.

Loading...