sohra

मुंबई: सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले में गवाहों के मुकरने का जो सिलसिला शुरू हुआ है. वह रुकने का नाम नहीं ले रहा है. अब एक बार फिर से 2 गवाह और मुकर चुके है.

अब तक इस केस में अपने बयान से पलटने के बाद ऐसे गवाहों की संख्या अब 44 हो गई है. इस मामले में 62 गवाहों की गवाही हो चुकी है जिसमें अभियोजन एजेंसी सीबीआई के मुताबिक अब तक 44 गवाह अपने बयान से मुकर चुके हैं.

सुनवाई के दौरान दो गवाहों ने कहा कि पुलिस ने उनके सामने कोई गोलियां बरामद नहीं की थी. इन दोनों के इस बयान के बाद इन गवाहों को होस्टाइल घोषित कर दिया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बीच आईपीएस अधिकारी ई.राधाकृष्णाइया ने कोर्ट में कहा, ‘2005 में आईपीएस अधिकारी राजकुमार पंडियन हैदराबाद में मेरे घर आए थे. और मैंने उनके रहने का इंतजाम किया था.’

सोहराबुद्दीन मामला : दो और गवाहों के साथ अब तक 44 गवाह अपने बयान से पलटे

निकुंज दलवाडी और किरण पंचाल का बयान मुठभेड़ के बाद पुलिसकर्मियों से बरामद खाली कारतूस के लिए पंच गवाह के तौर पर दर्ज हुआ था. पंच गवाह ऐसे गवाह होते हैं जिसके सामने पुलिस वारदात स्थल से सामग्री सील करने जैसी छानबीन शुरू करती है.

हालांकि, अदालत में दोनों ने अपने बयानों का समर्थन नहीं किया और कहा कि पुलिस ने उनसे कोरा कागज पर दस्तखत करने को कहा था .