उडी हमलें के बाद देश के लोगों का गुस्सा जगजाहिर हैं. ऐसे में कुछ लोग फर्जी राष्ट्रवाद के जरिये देश से गद्दारी करते हुए सेना का नाम पर पैसा वसूल रहे हैं. ठगी का ये गौरखधंधा सोशल मीडिया के जरिये किया जा रहा हैं.

सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर ऐसे संदेश पोस्ट किये जा रहें हैं जिनमे दावा किया जा रहा हैं कि दोनों देशों के बीच युद्ध शुरू हो गया हैं. और भारतीय सेना को धन की जरुरत हैं. ठगों ने इसके लिए बाकायदा वाट्सएप और फेसबुक पर बैंक खातों के नंबर भी दिए हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सन्देश में कहा गया कि सेना के सामने धन की किल्लत हैं और युद्ध के लिए अरबों रुपयों की जरुरत हैं. वहीं सेना के अधिकारियों ने ऐसी किसी भी सूचना की पुष्टि नहीं की है.

हालांकि सेना द्वारा एक खाता नंबर जारी किया है.  खाता संख्या 90552010165915 जो कि  दिल्ली स्थित सिंडीकेट बैंक का है और खाता आर्मी वैलफेयर फंड बैटल कैजुअल्टी के नाम से है. इस खाते में हथियार खरीदने के लिए नहीं, बल्कि उरी में मारे गए शहीदों की मदद को रकम जमा कराई जा सकती है.

Loading...