कश्मीर में चल रही हिंसा पर सिख समुदाय ने लोगों ने पंजाब में कश्मीर के लोगो के लिए बीते शुक्रवार को कश्मीर सामंजस्य दिवस रखा. पंजाब में शुक्रवार को जुमा की नमाज़ अदा करने के बाद खालसा दल ने एक पुर-अमन जुलूस निकाल कर सरकार से कश्मीर में चल रही हिंसा को जल्द से जल्द रोकने और आर्मी को हटाने की मांग भी की.

कश्मीर सांमजस्य दिवस पर खालसा दल ने कश्मीर हिंसा पर एक विरोध प्रदर्शन किया. जिसके दौरान कश्मीर में निर्दोष नागरिकों पर पैलेट गन के गलत इस्तेमाल और बेगुनाह और निहत्ते जवानों, बच्चों और बूढ़ों की मौत के खिलाफ आवाज़ उठाई.

खालसा दल की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि खालसा दल के सैकड़ो कार्यकर्ता शहर के सबसे व्यस्त चौक पर जमा हुए और सिख झंडे, बैनर और तख्तियों से अपने सन्देश को संप्रेषित किया.

पुलिस ने बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान खालसा दल ने कहा कि, “कश्मीर के लोगो के सही आकांक्षाओं का सम्मान करना चाहिए. और कश्मीर के नागरिकों को अपनी इच्छाएं व्यक्त करने के लिए स्वतंत्र, निष्पक्ष और निरंकुश अवसर दिया जाना चाहिए. जोकि पूरे विश्व में रहने वाले लोगो का अधिकार हैं.”

तख्तियों द्वारा दिए जा रहे सन्देश में एक सन्देश में लिखा था कि “सिख राष्ट्र कश्मीरी राष्ट्र के साथ खड़ा है और आत्मा-निर्णय का अधिकार हर राष्ट्रयिता का अधिकार हैं.”

Web-Title: Sikhs protest in punjab over kashmir row

Key-Words: Sikh, Protest, Kashmir, Muslim, violence

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें