कश्मीर घाटी में तुर्की, मलेशिया और ईरान सहित मुस्लिम देशों के टीवी चैनल के प्रसारण पर रोक लगा दी गई। इसके लिए बाकायदा रविवार को केबल ऑपरेटरों को निर्देशित किया गया है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, श्रीनगर में सूचना विभाग के दफ़्तर में मंत्रालय के सीनियर अधिकारी विक्रम सहाय ने केबल ऑपरेटरों के साथ बैठक की। ऑपरेटरों के अनुसार अधिकारियों ने केबल टेलीविजन नेटवर्क (रेग्युलेशन) एक्ट 1995 का हवाला देते हुए कहा कि क़ानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए इसका पालन ज़रूरी है।

विक्रम सहाय सूचना और प्रसारण मंत्रालय में संयुक्त सचिव हैं। उन्होंने ऑपरेटरों से कहा कि जो मुस्लिम देशों और ख़ास करके ईरान, तुर्की, मलेशिया के चैनलों का प्रसारण कर रहे हैं वो क़ानून तोड़ रहे हैं। सहाय ने कहा कि मलेशिया के किसी भी चैनल का प्रसारण नहीं होना चाहिेए। सहर टीवी ईरान का धार्मिक चैनल है और यह शिया मुसलमानों के बीच लोकप्रिय है।

Symbolic

ऑपरेटरों ने कहा कि उन्हें सऊदी के अल-अरबिया चैनल का भी प्रसारण नहीं करने का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा अधिकारियों ने इसकी जानकारी भी मांगी की कि घाटी में सबसे लोकप्रिय टीवी शो कौन सा है।

बता दें कि पाँच अगस्त को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा ख़त्म होने के बाद से अब तक घाटी में संचार के कई माध्यमों पर पाबंदी हैं। वहीं इंटरनेट सेवा पूरी तरह से बहाल नहीं हो पाई है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन