झारखंड के पलामू जिले में लॉक डाउन के बीच हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। एक दुकानदार को कोरोना के चलते लोगों को घर पर रहने की नसीहत देने पर पीट-पीटकर मार दिया गया।

यह घटना बुधवार को पलामू जिले के चाक उदयपुर की है। 45 वर्षीय युवक काशी साव ने गांव के चार लोगों को गांव में घूमने की बजाय घर में क्वारंटाइन रहने के लिए सलाह दी। काशी एक किराने की दुकान चलाता है और ये हमलावर उसकी दुकान पर पहुंचे थे और फिर वहां पर तोडफ़ोड़ की गई थी। यहीं पर उसे पीटा गया और बाद में गंभीर हालात में उसे अस्पताल ले जाया गया. हालांकि गंभीर चोट आने के कारण काशी साव ने दम तोड़ दिया।

कोरोना संक्रमण की जांच के लिए बुधवार को झारखंड में कुल 17 नए सैंपल लिए गए। इनमें नौ की रिपोर्ट जांच में नेगेटिव आई है। वहीं आठ लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है।  अबतक की जांच की बात करें तो राज्य में 110 लोगों के सैंपल जांच के लिए लिए गए हैं। इनमें 102 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जबकि आठ की रिपोर्ट आनी बाकी है| अच्छी खबर है कि झारखंड में कोरोना से संक्रमण का मरीज अभी तक नहीं मिला है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसके बावजूद सावधानी और संपूर्ण लॉक डाउन का अनुपालन अति अनिवार्य बता रहे हैं, क्योंकि ऐसा भी हो सकता है कि किसी में कोरोना का लक्षण अभी सामने नहीं आया हो, लेकिन बाद में सामने आए। वहीं हमारे-आपके बीच कहीं से भी संक्रमण आ सकता है। इसके प्रति एहतियात जरूरी है।

स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों का भी कहना है कि कोई केस नहीं मिलने के बाबजूद 14 अप्रैल तक संपूर्ण लॉक डाउन का सख्ती से अनुपालन जरूरी है। थोड़ी सी असावधानी बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन