कर्नाटक पुलिस की विशेष जांच दल (एसआईटी) ने पत्रकार गौरी लंकेश को गोली मारने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। परशुराम वागमोरे नाम का यह शख्स राइट विंग ग्रुप श्री राम सेने का सदस्य है।

परशुराम को कर्नाटक के बीजापुर जिले के सिंदागी तालुका से मंगलवार (12 जून) को गिरफ्तार किया गया। उसे स्‍थानीय अदालत में पेश किया गया जहां से उसे 14 दिनों के लिए पुलिस हिरासत भेज दिया गया।

एसआईटी ने उसके साथी सुनील अगासरा को भी गिरफ्तार किया है। वह 2012 में सिंदगी में तहसीलदार कार्यालय पर पाकिस्‍तान का झंडा फहराने का आरोपी भी है। इस घटना के बाद इलाके में हिंदू-मुस्लिम तनाव हो गया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, परशुराम हथियार चलाने का प्रशिक्षण ले चुका है। इससे पहले एसआईटी ने हिंदूवादी संगठन से जुड़े नवीन कुमार उर्फ होते मांजा को पकड़ा गया था. उससे पूछताछ के बाद कुछ और लोगों की भी गिरफ्तारी हुई.

बता दें कि गौरी लंकेश की हत्‍या पिछले साल 5 सितंबर की रात को कर दी गई थी। बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने उन पर उस वक्‍त गोलियां बरसाई थीं, जब व‍ह बेंगलुरु के राजराजेश्‍वरी नगर स्थित अपने घर के बाहर थीं। लंकेश साप्‍ताहिक समाचारपत्र ‘लंकेश पत्रिका’ की संपादक थीं।

Loading...