कथित गोरक्षा के नाम पर मुस्लिमों के खिलाफ भगवा संगठनो की गुंडागर्दी जारी है। दिल्ली से सटे गुड़गांव में शुक्रवार को गोरक्षकों ने एक मीट सप्लायर को हथौड़े से बुरी तरह पीटा। इस मामले में अब एसएचओ बादशाहपुर को लाइन हाजिर किया गया है।

गुरुग्राम के पुलिस कमिशनर केके राव ने एसएचओ बादशाहपुर पर कार्रवाई करते हुए उन्हें लाइन हाजिर कर दिया है। दरअसल, यह पूरा मामला पुलिस के सामने ही हुआ था और पुलिस देखती रही। घायल शख्स का नाम लुकमान है। मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, मेवात के एक मीट सप्लायर लुकमान (25) को गोमांस ले जाने के शक पर पीटा गया। इस संबंध में एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ कथित गोरक्षक लुकमान को पीट रहे हैं। इस वीडियो में पुलिस भी  मौजूद दिख रही है।  पीड़ित लुकमान ने बताया कि वह शुक्रवार सुबह नौ बजे सेक्टर 4-5 चौक पर पहुंचा था। उसकी पिकअप वैन में भैंस का मांस लदा हुआ था कि तभी पांच दोपहिया वाहनों पर सवार कुछ युवकों ने उसका पीछा करना शुरू किया।

लुकमान ने बताया, ‘वे लगभग आठ से दस लोग थे. वे मुझे गाड़ी रोकने को कह रहे थे। अपनी सुरक्षा को देखते हुए मैंने गाड़ी की रफ्तार बढ़ा दी। सदर बाजार में मेरी गाड़ी को रोककर मुझे गाड़ी से बाहर निकाला गया। उन्होंने लोहे की रॉड से यह कहकर मेरी पिटाई की कि मैं गोमांस ले जा रहा हूं। लुकमान ने बताया कि जैसे ही लोगों की भीड़ और कुछ पुलिसकर्मी इकट्ठा होने शुरू हुए, उन्होंने मुझे ट्रक में बैठाया और मुझे सोहना लेकर गए।

इस दौरान पुलिस की टीम ने ट्रक का पीछा किया और लुकमान को बचाया। इन हमलावरों ने पुलिस पर भी हमला किया और फरार होने से पहले उनके वाहन को तोड़ दिया। पुलिस लुकमान को अस्पताल लेकर गई. बताया गया है कि लुकमान को फ्रैक्चर हुआ है लेकिन उसकी हालत स्थिर है।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 323, 325 341, 342 और 427 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। गुड़गांव के एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस प्रीतपाल सिंह ने बताया, ‘हमने और भी लोगों की पहचान की है।’ पुलिस ने गाड़ी के मालिक का बयान लिया जिसने कहा है कि वो भैंस का मांस था और वो पिछले 50 सालों से ये कारोबार कर रहा है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन