मुंबई | एयर इंडिया कर्मचारी के साथ मारपीट करने वाले सांसद रविन्द्र गायकवाड ने अपने व्यवहार के लिए सदन से माफ़ी मांगी है . लेकिन उन्होंने एयर इंडिया से माफ़ी मांगने से मना कर दिया. बताते चले की भारतीय एयरलाइन संघ ने कहा था की अगर गायकवाड माफ़ी मांग ले तो उनके ऊपर से प्रतिबंध हटा लिया जाएगा. उधर इसी मामले में गायकवाड ने नागरिक उड्डयन मंत्री से भी मुलाक़ात की है.

लेकिन खबर है की उड्डयन मंत्री अशोक गणपति राजू ने गायकवाड को किसी भी तरह का आश्वासन देने से मना कर दिया है. इसका मतलब उनके ऊपर लगे हवाई यात्रा प्रतिबंध को हटाने पर अभी कोई विचार नही किया गया है. इसलिए उड्डयन मंत्री से बातचीत विफल होने के बाद शिवसेना ने धमकी देते हुए कहा है की वो मुंबई और पुणे एअरपोर्ट से एयर इंडिया के विमान उड़ने नही देंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शिवसेना की और से जारी बयान में कहा गया की वो पुणे और मुंबई एअरपोर्ट पर एयर इंडिया के विमानों का संचालन नही होने देंगे. शिवसेना की धमकी से घबराई एयर इंडिया ने सरकार से सुरक्षा की मांग की है. एयर इंडिया को डर है की शिवसेना के कार्यकर्त्ता उनके कर्मचारी को नुक्सान पहुंचा सकते है. इसी के मद्देनजर एयर इंडिया ने अपने दोनों एअरपोर्ट पर अपने कर्मचारियों की सुरक्षा बढ़ा दी है.

एयर इंडिया के सूत्र ने बताया की दोनों ही एअरपोर्ट पर एयर इंडिया कर्मचारी संघ , शिवसेना की ट्रेड यूनियन भारतीय कामगार संघ से सम्बद्ध है. इसलिए शिवसेना की धमकी को केवल धमकी समझ नही छोड़ा जा सकता. हमारे लिए कर्मचारियों की सुरक्षा सर्वोपरि है. इसलिए सरकार से हमने सुरक्षा की मांग की है. मालूम हो की भारतीय एयरलाइन संघ और एयर इंडिया ने रविन्द्र गायकवाड की हवाई यात्रा पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

Loading...