मालेगांव | महाराष्ट्र में बड़ा वजूद रखने वाली पार्टी शिवसेना, आखिर किस आधार पर लोगो के दिलो पर राज करती है, इसकी बानगी मालेगांव में देखने को मिली. यहाँ शिवसेना ने गरीब परिवार के 95 जोड़ो की सामूहिक विवाह आयोजन में शादी कराकर समाजसेवा का शानदार उदहारण पेश किया. उनके इस कार्य से , राजनितिक पार्टियों के बारे में जो छवि लोगो के दिमाग में बनी हुई है, उसमे बदलाव जरूर आएगा.

जिला मालेगांव में शिवसेना की और से सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया. इस आयोजन में 95 जोडियो की शादी कराई गयी. एक बड़ा उदहारण पेश करते हुए , शिवसेना ने अपने मंत्री दादा भसे के बेटे अजिंक्य की शादी भी इसी आयोजन में कराई. इस दौरान वहां राज्य के करीब एक दर्जन मंत्री मौजूद रहे.

न्यूज़ 18 की खबर अनुसार, इस आयोजन में मुस्लिम , बोद्ध और हिन्दू धर्म के बेटे बेटियों की शादी करायी गयी. 95 जोड़ो में से 21 जोड़े मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखते थे. सभी मुस्लिम जोड़ो की उनके धर्म के रीती रिवाजो के अनुसार शादी कराई गयी. यही नही इस शादी को बड़े ही आलीशान तरीके से आयोजित किया गया.

शिवसेना के मंत्री दादा भसे के बेटे अजिंक्य ने दुल्हन स्नेहल के साथ सात फेरे लिए. उनकी शादी भी इसी सामहरोह में संपन्न कराई गयी. इस आयोजन की खास बात यह थी की यहाँ सबको अपने रीती रिवाज से शादी करने की छूट दी गयी. यही कारण था की एक तरफ हिन्दू जोड़े फेरे ले रहे थे तो दूसरी और मुस्लिम जोड़ो का निकाह पढ़ा जा रहा था. देश के सभी राजनितिक दलों को इस आयोजन से एक सीख लेने की जरुरत है. क्योकि राजनितिक दलों का उद्देश्य ही समाज सेवा होना चाहिए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें