भोपाल सेंट्रल जेल से सिमी सदस्यों की कथित फरारी और उसके बाद उनकी कथित मुठभेड़ में मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा मौत पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने शिवार्ज सरकार से इस मामले की पूरी रिपोर्ट तलब की हैं.

मानवाधिकार आयोग ने जेल और पुलिस प्रशासन को नोटिस जारी कर रिपोर्ट देने के लिए 15 दिन का वक्त दिया हैं. मानवाधिकार आयोग के पीआरओ एलआर सिसोदिया ने कहा कि वे वीडियो की भी जांच करेंगे.

गौरतलब रहें कि मध्यप्रदेश पुलिस ने दावा किया हैं कि सोमवार तड़के जेल में हेड कॉन्स्टेबल का गला रेतकर 8 सिमी कार्यकर्ता भोपाल सेंट्रल जेल से फरार हो गए थे लेकिन भोपाल से 10 किलोमीटर दूर पुलिस ने सुबह 11 बजे गुनगा थानाक्षेत्र के आचारपुरा गांव में 8 ही सिमी कार्यकर्ताओं को मुठभेड़ में मार गिराया.

मारे गये सिमी कार्यकर्ताओं की पहचान अमजद, जाकिर हुसैन सिद्दीक, मोहम्मद सालिक, मुजीब शेख, मेहबूब गुड्डू, मोहम्मद खालिद अहमद, अकील और माजिद के तौर पर की गई थी.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें