Wednesday, June 23, 2021

 

 

 

शिया-सुन्नी उलेमाओं ने मिलकर वसीम रिजवी को किया इस्लाम से खारिज

- Advertisement -
- Advertisement -

कुरान की 26 आयतों को आतंकवाद से जोड़कर हटाने की मांग करने और सहाबा ए किराम को लेकर आपत्तिजनक बयान देने वाले वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) को लखनऊ में शिया-सुन्नी उलेमाओं ने मिलकर इस्लाम से खारिज कर दिया है।

टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फजले मन्नान रहमानी नदवी ने कहा कि वसीम इजराइल के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं। इसका मकसद सिर्फ समाज को नुकसान पहुंचाने का है।

मौलाना डॉ कल्बे सिब्तैन नूरी ने कहा वसीम के कृत्य को माफ़ नहीं किया जा सकता। वसीम रिजवी समाज का हिस्सा ही नहीं हैं। उन्होंने हमेशा मुस्लिम समाज को बदनाम किया है। वे हमारे समाज का हिस्सा ही नहीं है। दोनों मौलाना ने वसीम रिजवी को इस्लाम से खारिज और मुस्लिम समाज से बेदखल करने का फतवा दिया।

वहीं मुरादाबाद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अमीरुल हसन जाफरी ने वसीम रिजवी के सिर कलम करने वाले को 11 लाख का इनाम देने का ऐलान किया।

जाफरी ने कहा कि कुरआन मजीद के बारे में गलत बयानबाजी करने वालों को ऐसी सजा देना कोई अपराध नहीं है। जाफरी ने कहा कि सिर कलम करने वाले के लिए इनाम की राशि की व्यवस्था वह चंदा लेकर करेंगे। जरूरत पड़ी तो अपनी संतान तक को बेच देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles