चेन्नई | आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट से 4 साल की सजा मिलने के बाद शशिकला सरेंडर के लिए निकल चुकी है. इससे पहले उन्होंने जयललिता की समाधी पहुंचकर वहां कुछ समय व्यतीत किया. इस दौरान वो काफी भावुक भी नजर आई. इसके बाद वो एमजीआर की समाधी पर भी गयी. यहाँ से वो बैंगलोर ट्रायल में सरेंडर करने के लिए रवाना हो गयी.

सुप्रीम कोर्ट से 4 साल की सजा मिलने के बाद शशिकला का राजनितिक करियर खत्म हो चूका है. लेकिन उन्होंने अपने भतीजे दीनाकरण के लिए राजनितिक राह आसान कर दी है. सरेंडर करने से पहले शशिकला ने दिनाकरन को पार्टी का डिप्टी जनरल सेक्रेट्री नियुक्त कर दिया. दिनाकरण को जयललिता ने 2011 में पार्टी से निकाल दिया था. लेकिन शशिकला के पार्टी महासचिव बनते ही उन्हें वापिस पार्टी में ले लिया गया.

उधर शशिकला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाल गिरफ़्तारी में कुछ दिन मोहलत देने की अपील की थी. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस पीसी घोष की पीठ ने इस पर सुनवाई की. जस्टिस पीसी घोष ने सुप्रीम कोर्ट के कल के आदेश में एक शब्द भी बदलने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा की हम इस आदेश में एक शब्द का भी बदलाव नही करेंगे.

सुप्रीम कोर्ट की और से सभी दरवाजे बंद होने के बाद शशिकला पहले जयललिता की समाधी पर पहुंची और इसके बाद एमजीआर की समाधी पर. इस दौरान वो काफी भावुक दिखी. यहाँ कुछ देर बिताने के बाद वो बैंगलोर के लिए रवाना हो गयी. उम्मीद है की वो आज शाम ट्रायल कोर्ट में सरेंडर करेगी. मालूम हो की कल सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप में शशिकला को 4 साल की सजा सुनाई थी. कोर्ट के फैसले के बाद उनका राजनीतक करियर लगभग समाप्त हो चूका है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें