बंगलौर | आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद शशिकला ने बुधवार शाम बंगलौर ट्रायल कोर्ट में सरेंडर कर दिया. जहाँ से उनको बंगलौर की बेनाहोर सेंट्रल जेल भेज दिया गया. जेल में उन्होंने पूरी रात चटाई पर सोकर गुजारी. हालाँकि शशिकला ने कोर्ट से मांग की थी जेल में उनको अलग सेल दिया जाए लेकिन अदालत ने उनकी मांग ठुकरा दी.

बुधवार शाम को बगलोर की बेनाहोर जेल में पहुँचने के बाद शशिकला से एक रजिस्टर पर साइन कराया गया. यहाँ उनको महिला कैदी की पोषक के तौर पर तीन नीली साड़िया दी गयी. जेल में शशिकला को कैदी नम्बर 9234 दिया गया है. इसके अलाव उन्हें सोने के लिए एक चटाई, एक कम्बल और तकिया दिया गया. फ़िलहाल उनको सभी कैदियों की तरह ही जेल में रखा गया है.

खाने के बर्तन के रूप में शशिकला को प्लेट और पानी पीने का मग दिया गया. डिनर के रूप में उन्हें बाकी कैदियों की तरह जेल का खाना दिया गया. जेल में शशिकला को मोमबत्ती और अगरबत्ती बनाने का काम दिया गया है. इसके लिए उन्हें रोज 50 मजदूरी भी मिलेगी. जेल में शशिकला ने सारी रात चटाई पर सोकर गुजारी. सुबह उठते ही उन्होंने 10 मिनट मैडिटेशन किया. इसके बाद उन्होंने ब्रेकफास्ट में यहाँ का स्थानीय खाना पुलियोगरे दिया गया.

दरअसल शशिकला ने अदालत से मांग की थी की उनको जेल में अलग से एक सेल दिया जाए. इसके अलावा शुगर की बिमारी का हवाला देते हुए उन्होंने घर का खाना देने की मांग की थी. यही नही पीने के लिए मिनरल वाटर, मैडिटेशन और टहलने के लिए अलग से जगह देने की भी मांग की गयी. हालाँकि कोर्ट ने शशिकला की इन माँग को फिलहाल ख़ारिज कर दिया गया है. फ़िलहाल वीआईपी होने के नाते जेल में उनको खास सुरक्षा जरुर दी जा रही है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें