सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के मामले में गिरफ्तार जेएनयू के छात्र शरजील इमाम की याचिका को दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। शरजील ने बिना किसी नोटिस के यूएपीए से जांच के लिए अधिक समय देने के ट्रायल कोर्ट के आदेश को चुनौती दी थी।

न्यायमूर्ति वी कामेश्वर राव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से फैसला सुनाया और कहा कि विस्तृत आदेश कोर्ट की वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी। दिल्ली पुलिस ने शरजील इमाम की दलील का विरोध करते हुए कहा कि ट्रायल कोर्ट के 25 अप्रैल के आदेश में कोई कमी नही है।

अदालत ने गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) के तहत मामले में जांच पूरी करने के लिए 90 दिन की वैधानिक अवधि के अलावा तीन और महीने का समय दिया था। इमाम ने जांच पूरी करने के लिए पुलिस को और समय देने के निचली अदालत के फैसले को चुनौती दी थी।

शरजील इमाम को 28 जनवरी को बिहार से गिरफ्तार किया गया था। 90 दिन की वैधानिक अवधि 27 अप्रैल को पूरी हो गयी। अपने आवेदन में उसने दलील दी है कि ट्रायल कोर्ट द्वारा 25 अप्रैल को इस मामले की जांच की अवधि और 90 दिनों के लिए बढ़ाया जाना कानून सम्मत नहीं है। शरजील इमाम असम पुलिस द्वारा दर्ज किए गए यूएपीए से जुड़े मामले में गुवाहाटी जेल में है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन