शाहीनबाग शूटर के ‘आप’ कार्यकर्ता होने पर बोले परिजन – किसी भी राजनीतिक दल से कोई वास्ता नहीं

पिछले दो महीनों से नागरिकता कानून के विरोध में जारी प्रदर्शन पर दिल्ली के शाहीन बाग में गोलीबारी करने वाले कपिल गुर्जर के बारे में दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी (आप) के सदस्य होने का संदेह जताया है। ऐसे में भाजपा और आप में वाकयुद्ध छिड़ गया। इसी बीच कपिल के परिजन सामने आए है।

कपिल गुर्जर के चाचा फतेह सिंह ने कहा, ‘‘मुझे पता नहीं कि कहां से ये फोटो आ रहे हैं। मेरे भतीजे कपिल का किसी भी राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध नहीं है और न ही मेरे परिवार के किसी भी सदस्य का। मेरे भाई गजे सिंह (कपिल के पिता) ने 2008 में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था और वह हार गये थे। उसके बाद हमारे परिवार में किसी का भी किसी राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध ही नहीं रहा।” फतेह सिंह ने कहा कि कपिल का आप या किसी भी अन्य राजनीतिक दल से जुड़़ा कोई दोस्त नहीं है।

हालांकि पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) राजेश देव ने कहा कि वह (गुर्जर) और उसके पिता 2019 के प्रारंभ में आप में शामिल हुए थे। पुलिस ने ये भी कहा कि गजे सिंह ने बसपा के टिकट पर 2012 का नगर निकाय चुनाव भी लड़ा था। उसने कहा कि गुर्जर का मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है और पुलिस ने व्हाट्सअप डाटा हासिल कर लिया है।

वहीं आम आदमी पार्टी ने इसे भाजपा की गंदी पॉलिटिक्स करार देते हुए कहा कि चुनाव से ठीक पहले यह सब किया जा रहा है। आम आदमी पार्टी की तरफ से संजय सिंह ने कहा कि अमित शाह गृहमंत्री हैं और चुनाव से ठीक पहले यह सब हो रहा है।तीन से चार दिन बचे हैं तो इस तरह भाजपा गंदी पॉलिटिक्स पर उतर गई है। उन्होंने फोटो पर प्रतिक्रिया देते कहा कि फोटो मिलने से क्या होता है ?

विज्ञापन