Thursday, June 24, 2021

 

 

 

जेएनयू देशद्रोह मामले में सात मुस्लिम युवकों को मिली जमानत

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली – दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के राजद्रोह मामले में सात आरोपियों को जमानत दे दी।

अदालत ने 25,000 रुपये के निजी मुचलके पर अकीब हुसैन, मुजीब हुसैन गट्टू, मुनीब हुसैन गट्टू, उमर गुल, रेये रसाल, खालिद बशीर भट और बशारत अली को जमानत दी। उन्हें इस मामले में पहले गिरफ्तार नहीं किया गया था।

कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को पहले ही अदालत ने मामले में जमानत दे दी थी।

मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा ने 2016 के राजद्रोह मामले में सभी आरोपियों को उनके खिलाफ दायर चार्जशीट की प्रतियां भी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

अदालत ने इन आरोपियों को समन जारी कर 15 मार्च को पेश होने का निर्देश दिया था। सभी आरोपियों पर जेएनयू कैम्‍पस में भारत विरोधी लगाने का आरोप है।

भाजपा के तत्कालीन सांसद महेश गिरि और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) की शिकायत पर 11 फरवरी 2016 को वसंत कुंज (उत्तर) थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

अदालत ने ऑनलाइन सुनवाई करते हुए कहा था कि दस्तावेज का निरीक्षण हो चुका है। कोर्ट देशद्रोह, मारपीट, भीड़ में शामिल होनेे, दंगा करने, आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में आरोपपत्र पर संज्ञान लेती है।

आरोपियों पर देशद्रोह की धाराओं में मुकदमा चलाने के लिए गृह विभाग अनुमति पेश कर चुका है। मौजूद सामग्री व दस्तावेज पर संज्ञान लेते हुए आरोपियों को जांच अधिकारी के मार्फत समन जारी किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles