screenshot_3

दिल्ली स्थित जमा मस्जिद के शाही इमाम ने उत्तर प्रदेश चुनावो को लेकर एक बड़ा बयान दिया हैं, उनका कहना हैं कि उत्तर प्रदेश के मुसलमानो को अब समाजवादी पार्टी के स्थान पर कोई अन्य विकल्प ढूंढ लेना चाहिए.

शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी ने पदेश का नेतृत्व करने वाली समाजवादी पार्टी में चल रही उथल-पुथल पर बोलते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के मुस्लिम वोटर्स को अब समाजवादी पार्टी की जगह कोई और विकल्प तलाश करना चाहिए.

इमाम बुखारी ने कहा कि प्रदेश सरकार मुसलमानो से किये गए अपने घोषणा पत्र के वादों को पूरा करने में नाकाम रही हैं, पार्टी ने मुसलमानो के साथ धोखा किया हैं.

अंग्रेज़ी अख़बार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक इससे पहले 2012 विधानसभा चुनावों में बुखारी ने मुलायम सिंह यादव का खुलकर समर्थन किया था, लेकिन अब उत्तर प्रदेश चुनावो से पहले उन्होंने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी पर पूरे कार्यकाल में मुस्लिमों के लिए कुछ नहीं किया.

उन्होंने कहा कि 2012 विधानसभा चुनाव से पहले मुलायम सिंह ने मेरा समर्थन लिया और मुस्लिमों को 18 फीसदी आरक्षण दिलाने जैसे कई वादे किए. लेकिन सरकार मुस्लिमों के मूलभूत अधिकार भी सरकार पूरे नहीं कर पाई.

बुखारी ने कहा कि आपको बता दे कि साल 2012 में समाजवादी पार्टी की सरकार आने के बाद से अब तक प्रदेश में 113 सांप्रदायिक घटनाएं हुई और 13 जगहों पर कर्फ्यू तक लग चूका है.

उल्लेखनीय हैं कि अक्टूबर के महीने में इमाम बुखारी ने लखनऊ जाकर यादव परिवार से मुलाकात की थी, इमाम बुखारी ने प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव से पहले अलग-अलग मिले थे, फिर चारों ने एक साथ बैठक की थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें