bhand

आर्म्स डीलर संजय भंडारी सुरक्षा एजेंसीयों को चकमा देकर फरार हो गया हैं. जांच एजेंसियों ने उसके देश के बाहर भाग जाने की जांच शुरू कर दी हैं. पिछले एक महीने से संजय भंडारी के बारे में कोई जानकारी नहीं है. इस मामलें की जांच अब दिल्ली पुलिस को सौंपी गई है.

दिल्ली पुलिस अब यह पता लगाने में जुटी हैं कि संजय भंडारी आखिर कैसे बिना किसी एजेंसी को सूचित किए भारत से लंदन भाग गया. दरअसल उसका पासपोर्ट आयकर विभाग द्वारा जब्त कर लिया गया था. ऐसे में कहा जा रहा हैं कि वह फर्जी दस्तावेज के जरिए नेपाल के रास्ते होते हुए लंदन भाग गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जानकारी के मुताबिक, 17 अक्टूबर को आर्म्स डीलर संजय भंडारी के खिलाफ ऑफिसियल सिक्रेट एक्ट के तहत दिल्ली में केस दर्ज हुआ था. दिल्ली पुलिस की जांच के दौरान पता चला था कि संजय भंडारी के डिफेंस कॉलोनी के घर से इसी साल अप्रैल में भारतीय वायुसेना के गोपनीय दस्तावेज मिले हैं.

बताते चलें कि संजय भंडारी के ग्रेटर कैलाश स्थित घर पर छापे के दौरान बेहद संवेदनशील दस्तावेज बरामद हुए थे. इन दस्तावेजों में सबसे अहम रक्षा मंत्रालय की गोपनीय मीटिंग्स से जुड़े कागजात थे. छापेमारी में टीम को भविष्य के रक्षा सौदों से जुड़े कई महत्वपूर्ण फैसलों के भी दस्तावेज बरामद हुए थे.

Loading...