पटना । दलितों के उत्थान के लिए शुरू हुआ आरक्षण राजनीतिक दलो के गले की फाँस बनता जा रहा है। ख़ासकर स्वर्ण समाज के विरोध के बाद किसी भी नेता ने ना ही उनके विरोध में बयान दिया है और ना ही पक्ष में। आख़िर सभी राजनीतिक दलो को अपने वोट बैंक की चिंता सताती रहती है। अगर पक्ष में बोले तो दलित वोट चला जाएगा और विरोध में बोले तो स्वर्ण समाज का वोट छिटकने का ख़तरा है।

लेकिन अब इस विवाद की चिंगारी ने बड़े दलो के नेताओ को भी अपने लपेटे में लेना शुरू कर दिया है। ताज़ा घटनाक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक स्वर्ण समाज के युवक के ग़ुस्से का शिकार होना पड़ा। एक कार्यक्रम के दौरान उस शख़्स ने नीतीश कुमार के ऊपर चप्पल फेंक दी। हालाँकि यह चप्पल ड़ायस तक नही पहुँच सकी।

मुख्यमंत्री के ऊपर हुए इस हमले से पूरे कार्यक्रम में अफ़रा तफ़री मच गयी। पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए उस शख़्स को गिरफ़्तार कर लिया। शख़्स का नाम चंदन तिवारी बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मुख्यमंत्री पर चप्पल फेंकने की घटना आरक्षण के विरोध में हुई है। गिरफ़्तार शख़्स स्वर्ण सेना का कार्यकर्ता बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना के बापू सभागार में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुँचे थे। यह कार्यक्रम युवा जनता दल (यू) द्वारा आयोजित किया गया था। इसी दौरान चंदन ने नीतीश कुमार के ऊपर चप्पल फेंक दी। गिरफ्तार किया गया युवक चंदन तिवारी औरंगाबाद का रहने वाला है। बताते चले की पीछले महीने मध्य प्रदेश में स्वर्ण समाज के लोगों ने मोदी सरकार द्वारा SC/ST ऐक्ट में किए गए बदलाव के विरोध में प्रदर्शन किया था।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें