vaibhav raut 1533863968 1

महाराष्ट्र आतंकवाद विरोधी दल (एटीएस) ने मंगलवार को विशेष अदालत में के समक्ष बताया कि हाल ही में जिस हिंदूवादी समूह सनातन संस्थान के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। वे पुणे में आयोजित हुए वार्षिक नृत्य संगीत समारोह में विस्फोट करने की साजिश रच रहे थे।

स्‍पेशल कोर्ट में एटीएस ने बताया कि इन आरोपियों का मकसद पिछले साल पुणे में संपन्‍न सनबर्न फेस्‍ट‍िवल में बम प्‍लांट कर धमाका करना था। बता दें सनबर्न एश‍िया का सबसे बड़ा और वर्ल्‍ड का तीसरा सबसे बड़ा म्‍यूजिक फेस्‍टिवल है। इसकी शुरुआत 2007 में गोवा से हुई थी, हालांकि 2016 में इसे पुणे में आयोजित किया जा रहा है।

Loading...

एटीएस ने बताया कि इस मामले में  वैभव राउत और सुधनवा गोंधालेकर ने बम बलास्‍ट की प्‍लानिंग की थी क्‍योंकि यह फेस्‍ट‍िवल हिंदू संस्‍कृति के ख‍िलाफ लगता था। इतना ही नहीं इन लोगों ने उन लोगों की लिस्‍ट बनाई थी, जो इनके अनुसार हिंदू संस्‍कृति के ख‍िलाफ काम करते हैं।

atss

इनका मकसद उनपर हमला करने का भी था। एटीएस ने कहा कि वह उन नामों का खुलासा नहीं कर सकते क्‍योंकि इससे उनकी जान को खतरा हो सकता है। इस लिस्‍ट में एक इतिहास का लेखक, मराठी अखबार का एडिटर, 3 मराठी लेखक शामिल हैं।

बता दें कि एटीएस ने सनातन संस्था के वैभव राउत, शरद कलसकर और सुधान्वा को गिरफ्तार किया था। वैभव राउत के घर कई देसी बम और हथियार बनाने की सामग्री मिली थी। इतना ही नहीं इन आतंकियों से चार एयर पिस्टल्स, 20 एयर पिस्टल पैलेट्स, दो सीपीयू, दो नोटबुक, एक डायरी, तीन मोबाइल और दो सिमकार्ड बरामद किए थे।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें