sambit patra 1

sambit patra 1

टीवी चैनलों पर होने वाली राजनीतिक चर्चाओं का दिन-प्रतिदिन स्तर गिरता ही जा रहा है. टीवी डिबेट में अब न तो कोई नैतिकता बची है और नहीं कोई शालीनता.

ऐसा ही एक नजारा टीवी चैनल न्यूज इंडिया 18 पर हुई एक डिबेट में देखने को मिला. इस डिबेट में बीजेपी नेता संबित पात्रा और धर्मगुरु आचार्य प्रमोद कृष्‍णम शामिल हुए थे. ख़ास बात ये है कि डिबेट का विषय दलित नेता जिग्नेश मेवानी की पीएम मोदी के खिलाफ टिप्पणी को नेतिकता की कसौटी पर जांचते हुए निर्धारित करना था कि मेवानी को माफी मांगनी चाहिए या नहीं ?

इस दौरान संबित पात्रा ने कहा कि ‘यहां पर हम प्रमोद कृष्णम जी को आचार्य कहकर संबोधित करते हैं, वह खुद को संन्यासी कहते हैं, और उन्हें राजनीतिक बहस में बुलाया जाता है, इसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन जिस तरह से यहां वह कांग्रेस की ओर से पक्ष रखते हैं, सवाल पूछते हैं, और कहते हैं कि मंदिर कब बनाओगे, लेकिन जब सोनिया जी की ओर से भगवान राम को काल्पनिक कहा गया था तब आचार्य सवाल नहीं उठाते हैं, इसलिए मैं इनको ससम्मान ढोंगाचार्य कहता हूं.’ संबित पात्रा ने कहा कि, ‘वह यह नहीं कहते हैं कि आप बोरिंग हो चुके हो, और लंगोट पहनकर हिमालय चले जाओ, लेकिन मैं इन्हें ढोंगाचार्य कहता रहूंगा.’

जवाब में आचार्य ने कहा, ‘इन्होंने मुझे बड़े प्यार से ढोंगाचार्य से कहा. मैं भी बड़े प्यार से कहता हूं कि संबित पात्रा तुम एक गली-मोहल्ले के गुंडे की तरह बात करता हो, मैं भी बड़े प्यार से कह रहा हूं कि तुम्हारी भाषा लफंगों जैसी है., मैं भी बड़े प्यार से कहता हूं कि तुम्हें शर्म आनी चाहिए, डूब मरो चुल्लू भर पानी में.’ प्रमोद कृष्णम ने कहा कि वह संबित पात्रा को आशीर्वाद दे रहे हैं कि वह इस देश के मंत्री बनें और देश को लूटें.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?