Saturday, December 4, 2021

राम को पैगंबर करार दे सलमान नदवी बोले – मस्जिद को शिफ्ट करने की इस्लाम में इजाजत

- Advertisement -

नयी दिल्ली- देवबंदी उलेमा मौलाना सलमान नदवी ने हिन्दू धर्म के भगवान को पैगंबर करार देते हुए एक बार फिर से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की वकालत की है। उन्होने कहा कि इस्लाम में मस्जिद को शिफ्ट करने की इजाजत है।

उन्होंने कहा है कि इस्लामी शरीयत मस्जिद शिफ्ट करने की इजाज़त देती है और राम भी हमारे लिये एक पैगंबर हैं। इसलिये अमन की खातिर मस्जिद के लिये दूसरी जगह बड़ी ज़मीन लेकर समझौता कर लेना चाहिए। उन्होंने ये भी दावा किया कि खलीफा हजरत उमर ने कूफा शहर में एक मस्जिद को शिफ्ट करके उसकी जगह पर खजूर का बाजार बनवा दिया था। इसका मतलब है कि मस्जिद को शिफ्ट करना जायज है।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक नदवी ने कहा, ‘जहां तक रामचंद्र जी की शख्यित का ताल्कुक है, वह बहुत बड़े रिफॉर्मर थे और मुसलमान मानते हैं कि दुनिया में एक लाख 24 हजार पैगंबर हुए हैं। वह (राम) भी अपने वक्त के पैगबंर थे. उनका ऐहतराम करते हुए विवादित स्थल को मंदिर बनाने के लिए दे देना चाहिए और मस्जिद के लिए कोई दूसरी बड़ी जगह लेकर वहां मस्जिद बना ली जाए औऱ साथ में एक विश्वविद्यालय भी’।

babri masjid

अयोध्‍या मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा मध्‍यस्‍थता के लिए तीन सदस्‍यों की समिति बनाए जाने के फैसले पर मौलाना नदवी ने कहा कि मुकदमा लड़ने से किसी की हार होती है तो किसी जीत उसमें जो जीतता है वह खुद को विजयी मानता है लेकिन जो हराता है वह बेइज्जत महसूस करता है। लेकिन समझौते से इंसानियत को बढ़ावा मिलता है।

बता दें कि मौलना सलमान नदवी दारुल उलूम नदवतुल उलेमा विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं। इससे पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बाबरी मस्जिद की जमीन देने के बदले मौलाना सलमान नदवी पर 5000 करोड़ रुपये की रिश्वत की मांग करने का आरोप लगा था। उन पर ये आरोप राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास के अमरनाथ मिश्रा ने लगाया था।

नदवी पर समझौते के बदले 5000 करोड़ रुपये, 2 एकड़ ज़मीन और राज्यसभा की सीट मांगने का आरोप लगा था। जिसकी पुष्टि खुद इमाम कौंसिल के महासचिव हाजी मसरूर खान ने भी की है। इस मामले में मिश्रा ने नदवी के खिलाफ लखनऊ के हसनगंज थाने में तहरीर भी दी थी। जिसके बाद मौलाना नदवी को तकरीबन छह महीने पहले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से इस तरह के बयान को लेकर निष्कासित कर दिया गया था।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles