nadvi

nadvi

बाबरी मस्जिद विवाद और तीन तलाक के मुद्दे पर चर्चा के लिए हैदराबाद में आयोजित ऑल इंडिया मुस्‍लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में शामिल हुए सलमान हुसैन नदवी ने बोर्ड के सदस्य कमाल फारूकी और क़ासिम रसूल इलियास पर उनके साथ बदतमिजी करने का आरोप लगाया.

नदवी ने आरोप लगाया कि कमाल फारूकी और क़ासिम रसूल इलियास ने उनके साथ बदतमिजी की. उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा था जैसे कुछ लोग पहले से हंगामे की योजना बना कर आए थे. ध्यान रहे नदवी ने बाबरी मस्जिद को दूसरी जगह पर बनाने की वकालत की थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बैठक के बाद नदवी ने अपनी बात को फिर से दोहराते हुए कहा कि हंबली मसलक के मुताबिक, मस्जिद दूसरी शिफ्ट की जा सकती है. हम मस्जिद में बुत नहीं रख रहे, बल्कि मस्जिद शिफ्ट करने की बात कर रहे हैं. ये देश और मुसलमानों के हित में है.

इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि पर्सनल लॉ बोर्ड देश को बड़े दंगे की आग में झोंकने की तैयारी में है. उन्होंने कहा की बातचीत का रास्ता खुला रहेगा. नदवी उत्तर प्रदेश सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन है. सुन्नी वक्फ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद केस में एक पक्षकार है.

हालांकि बोर्ड ने पहले ही नदवी के इस फार्मूले को मानने से इंकार कर दिया है. बोर्ड ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा मान्य होगा.

Loading...