रोहतक | पिछले साल हुए ओलिंपिक खेलो में भारत को पहल पदक दिलाने वाली साक्षी मालिक ने हरियाणा की खट्टर सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा की उन्होंने अभी तक अपना वादा पूरा नही किया है. दरअसल पदक जीतने के बाद खट्टर सरकार ने साक्षी मालिक को ढाई करोड़ रूपए देना का वादा किया था. लेकिन घोषणा के आठ महीने बीत जाने के बाद भी उनको यह रकम नही मिली.

सरकार की वादाखिलाफी से खफा साक्षी मालिक ने ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए लिख,’ मैंने ओलिंपिक पदक जीतने का अपना वादा पूरा किया लेकिन हरियाणा सरकार अपना वादा कब पूरा करेगी.’ साक्षी के बाद उनके पिता ने भी खट्टर सरकार के रवैये पर सवाल उठाये है. साक्षी के पिता सुखबीर मालिक ने एएनआई से बात करते हुए कहा की बात केवल ढाई करोड़ रूपए की नही है बल्कि उन वादों की है जो सरकार ने हमसे किये थे.

सुखबीर और साक्षी मालिक की नाराजगी इसलिए भी जायज है की हरियाणा की खट्टर सरकार ने मोदी सरकार के साथ मिलकर ‘बेटी पढाओ बेटी बचाओ’ अभियान की शुरुआत की थी. यही नही खट्टर सरकार ने प्रदेश में नयी खेल नीति की घोषणा करते हुए लडकियों के पदक जीतने पर ढाई करोड़ रूपए देने की भी घोषणा की थी. इसी क्रम में साक्षी मालिक के ओलिंपिक पदक जीतने पर मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर ने खुद इनाम देने की घोषण की थी.

लेकिन हर बार की तरह यह घोषणा भी फाइलों के फेर में फंस कर रह गयी. आठ महीने बीत जाने के बाद भी साक्षी मालिक को पैसा नही मिला. हालाँकि हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज साक्षी मालिक के आरोपों का खंडन करते हुए कहते है की हमने उन्हें ढाई करोड़ रूपए दिए है. इसके अलावा उन्होंने MDU में नौकरी की भी मांग की थी. हमने यूनिवर्सिटी में वैकेंसी क्रिएट करके साक्षी को नौकरी देने की संसुति भी कर दी है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?