मोदी राज में रुपया भी बना रहा रिकॉर्ड, अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा

12:07 pm Published by:-Hindi News
rupya

मोदी राज में रुपया भी इतिहास गढ़ रहा है। गुरुवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 43 पैसे टूटकर रुपया 69.05 पर बंद हुआ। इससे पहले, 28 जून को रुपया 69.10 के रिकॉर्ड न्यूनतम स्तर तक चला गया था।

फेडरल रिजर्व के चेयरमैन की अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर उत्साहजनक टिप्पणी से डॉलर के एक साल के उच्च स्तर पर पहुंचने के साथ रुपये में यह गिरावट आयी। यह अब तक का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है कि रुपए के मुकाबले डॉलर इतना महंगा हो गया है।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया शुरूआती कारोबार में बैंकों तथा आयातकों की अमेरिकी करेंसी की भारी मांग के बीच गिरावट के साथ गुरुवार को 68.72 पर पहुंच गया था। बाद में यह 69.07 तक चला गया। अंत में यह 43 पैसे या 0.63 प्रतिशत टूटकर 69.05 पर बंद हुआ था।

फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पावेल ने अमेरिकी संसद के समक्ष दिए बयान में अमेरिकी अर्थव्यवस्था की मजबूती की बात कही। इससे ब्याज दर में वृद्धि की संभावना बनी है। हालांकि, उन्होंने इसमें धीरे-धीरे वृद्धि का संकेत दिया है।

modi bjp 1524108603 618x347

रुपया कमजोर होने से ये होंगे 4 असर

1- भारतीयों के लिए विदेश की यात्रा करना महंगा हो जाएगा।
2- विदेश में पढ़ाई का खर्च भी बढ़ जाएगा। यात्रा और पढ़ाई इसलिए महंगी होगी क्योंकि करेंसी एक्सचेंज के लिए डॉलर के मुकाबले ज्यादा रुपए चुकाने होंगे।
3- भारत के लिए क्रूड का इंपोर्ट महंगा हो जाएगा। इससे महंगाई बढ़ सकती है।
4- आईटी और फार्मा कंपनियों को रुपए की कमजोरी से फायदा होगा क्योंकि इनका बिजनेस एक्सपोर्ट से जुड़ा है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें