Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

बच्चो की तस्करी मामले में बीजेपी नेता जूही चौधरी की गिरफ़्तारी के बाद हुए कई खुलासे, रूपा गांगुली और कैलाश विजयवर्गीय का भी आया नाम

- Advertisement -
- Advertisement -

कोलकाता | मंगलवार को बच्चा तस्करी मामले में, दार्जलिंग से पकड़ी गयी बीजेपी नेता जूही चौधरी की गिरफ़्तारी से कई खुलासे हुए है. सीआईडी की जाँच में खुलासा हुआ है की जूही चौधरी के सम्बन्ध बीजेपी के कई अन्य नेताओं के साथ भी थे. इस मामले में बीजेपी की राज्यसभा सांसद रूपा गांगुली और बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय का नाम सामने आया है. हालाँकि रूपा गांगुली ने इस मामले में कुछ भी कहने से मना कर दिया.

क्या है पूरा मामला 

दरअसल पिछले साल पुलिस ने उत्तरी 24 परगना जिले के बदुरिया से कुछ बिस्किट के डब्बे बरामद किये जिसमे छिपाकर बच्चो की तस्करी की जा रही थी. इस मामले में एक एनजीओ चलाने वाली महिला चंदना चक्रवर्ती का नाम सामने आया. सीआईडी से पूछताछ के दौरान चंदना ने बीजेपी की जलपाईगुड़ी महिला शाखा की प्रमुख जूही चौधरी के साथ संबन्ध होना स्वीकार. उन्होंने यह भी बताया की जूही ने बाल गृह चलाने ने मंजूरी दिलाने में मदद की थी.

जांच के दौरान यह भी सामने आया की जूही चौधरी ने कैलाश विजयवर्गीय के माध्यम से रूपा गांगुली से मुलाकात की. इस मुलाकात के जरिये जूही , चंदना के बाल गृह का लाइसेंस के रिनियु कराने और केंद्र से कुछ आर्थिक सहायता लेने का प्रयास कर रही थी. फ़िलहाल सीआईडी इस बारे में जानकारी हासिल करने में लगी हुई की क्या रूपा गांगुली , जूही चौधरी की गतिविधियों के बारे में जानती थी या नही. इसके अलावा वो यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही की क्या रूपा ने बाल गृह के लाइसेंस को रेनियु कराने में उनकी मदद की या नही?

कैसे हुई गिरफ़्तारी 

पिछले साल 17 बच्चो की तस्करी मामले में जूही का नाम आने के बाद वो फरार चल रही थी. जूही , चंदना और उनकी एक महिला सहयोगी सोनाली मोडल के साथ नेपाल फरार हो गयी थी. लेकिन मंगलवार को सीआईडी को खबर मिली की जूही दार्जलिंग के खरिबाडी ब्लाक के एक घर में छिपी हुई है. सूचना मिलते ही सीआईडी के कुछ लोग भगवा वस्त्र में सन्यासी बन उस घर पर पहुंची. भिक्षा मांगने के बहाने उन्होंने कन्फर्म कर लिया की जूही इसी घर में छिपी हुई है.

कुछ ही देर में बाकी सीआईडी के लोग वहां पहुंचे और उन्होंने जूही को गिरफ्तार किया. फ़िलहाल अदालत ने 12 दिन के लिए जूही को रिमांड पर भेज दिया. जहाँ उनसे पूछताछ की जा रही है. कैलाश विजयवर्गीय ने मामले में नाम आने के बाद सीआईडी की जाँच पर ही सवाल उठा दिए. उन्होंने कहा की सीआईडी , राज्य सरकार के कहने पर काम कर रही है. उधर रूपा गांगुली ने कहा की वो कैमरे के सामने आरोपी के बयान प्रतिक्रिया देने की कोई जरुरत नही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles