kashmir_security_forces_640x360_reuters_nocreditजुलाई में सुरक्षा बलों के हाथों हुई हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद से ही कश्मीर में हिंसा जारी हैं, पिछले 5 महीने का वक्त गुजर जाने के बाद भी अब भी हिंसा पूरी तरह थमी नहीं हैं. कश्मीरियों के इस विरोध-प्रदर्शन में हजारों लोगों घायल हुआ हैं, हजारों की आँखों की रौशनी चली गई और सेकड़ों लोगों की मौत हुई हैं.

ऐसे में अब राष्ट्रीय स्वयसेवक संघ (RSS) के सहयोगी संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने 7 जनवरी को दिल्ली में कश्मीरी छात्रों का सम्मेलन बुलाने का फैसला किया हैं. सम्मेलन में कश्मीरी युवाओं से घाटी में शान्ति के लिए समर्थन माँगा जाएगा. कश्मीर के हालात को बेहतर बनाने पर चर्चा की जायेगी.

इस सम्मेलन में पश्चिमी यूपी में शिक्षा प्राप्त कर रहे कश्मीरी छात्रों समेत दिल्ली एनसीआर से भी कश्मीरी युवाओं को बुलाया गया है. इसमें गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, कश्मीर के डेप्युटी सीएम, कई मुस्लिम बुद्धिजीवी, पूर्व वीसी भी शामिल होंगे.

इस सम्मलेन के पीछे RSS का मकसद कश्मीर के नौजवानों को अलगाववादी ताकतों से अलग करना हैं. इसके लिए उन्हें केंद्र सरकार की तरफ से चलाई गई किए जाने योजनाओं की जानकारी दी जायेगी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें