संघ के आदेशनुसार गुड़गांव का नाम गुरुग्राम करने के बाद अब अहमदाबाद का नाम कर्णावती, हैदराबाद का नाम भाग्यनगर और औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर करने की कोशिश की जा रही हैं. पिछले महीने ही गुड़गांव का नाम बदलकर गुरुग्राम रखा गया था.

इस तरह शहरों का नाम बदलकर भारत के इतिहास को दोबारा लिखने को संघ के सांस्कृतिक दबाव को बढ़ाने की कोशिश के तोर पर देखा जा रहा हैं. संघ के नेताओं का मानना है कि इन शहरों के नाम अपने इतिहास और संस्कृति से जुड़े रहने चाहिए और संघ इन शहरों को इनके ऐतिहासिक नामों से ही बुलाता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संघ के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, ‘हम शहरों को उनके पुराने और ऐतिहासिक नामों से बुलाते हैं, न कि घुसपैठियों द्वारा दिए नामों से. एक आजाद देश के तौर पर हमें अपनी संस्कृति पर गर्व होना चाहिए.’ आरएसएस की तरफ से सुझाए गए नामों की लिस्ट में केरल का नाम भी है, जिसे बदलकर केरलम करने के लिए कहा गया है.

Loading...