अयोध्या केस में SC में आज आखिरी बहस, आरएसएस ने बुलाई सभी प्रचारकों की बैठक

11:41 am Published by:-Hindi News

अयोध्या विवाद मामले में सुनवाई 17 अक्टूबर के बजाए 16 अक्टूबर को ही समाप्त होने की संभावना है। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने इसके संकेत देते हुए कहा कि 70 साल पुराने विवाद पर बहस बुधवार को समाप्त हो जाएगी।

सुनवाई के आखिरी दिन प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि हिंदू पक्ष के वकील सीएस वैद्यनाथन से कहा कि एक घंटा उन्हें मिलेगा और एक घंटा मुस्लिम पक्ष को दिया जाएगा। भोजनावाकाश के बाद की सुनवाई में 45-45 मिनट शेष पांच पक्षों को दिए जाएंगे।

भोजनावकाश के बाद तीन घंटे पांच बजे तक सुनवाई होगी। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा कि ये तीन घंटे का समय पक्षकार आपस में बांट लें। इससे ज्यादा उन्हें नहीं सुना जाएगा। इस प्रकार कोर्ट बुधवार को फैसला सुरक्षित रख सकता है।

ऐसे में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने हरिद्वार में अपने ‘प्रचारकों’ सहित संबद्ध संगठनों की बैठक बुलाई है। सरसंघचालक मोहन भागवत, भैयाजी जोशी, दत्तात्रेय होसाबले और कृष्ण गोपाल पांच साल में एक बार होने वाली इस बैठक में मौजूद रहेंगे।

इंडिया टुडे ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता भी बैठक में शामिल होंगे, जो अयोध्या मामले और उस पर संभावित फैसले पर मंथन करेंगे, जिन्होंने दशकों से इस मसले पर तीव्र ध्रुवीकरण को बनाए रखा। इसी वजह से बीजेपी ने आम चुनावों में 300 से अधिक सीट जीतने का सफर तय किया है।

आरएसएस ने पिछले साल चेतावनी देते हुए कहा था कि अयोध्या में मंदिर के लिए भीड़ जुटाने के लिए आगे बढ़ना होगा। लेकिन बीजेपी नेतृत्व ने हस्तक्षेप करते हुए कहा था कि मंदिर पर आक्रामक रुख से सरकार के सुशासन की छवि प्रभावित हो सकती है। बहरहाल, हरिद्वार में संघ और उसके संबद्ध संगठनों की बैठक को देखते हुए हरिद्वार में प्रशासन ने निषेधात्मक आदेश जारी किया है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें