Monday, October 18, 2021

 

 

 

रात भर धरने पर रहे राज्यसभा के निलंबित सांसद, सभापति चाय लेकर पहुंचे तो किया पीने से इंकार

- Advertisement -
- Advertisement -

कृषि बिल के विरोध राज्यसभा में हंगामे के बाद निलंबित किए गए आठों सांसदों का संसद भवन परिसर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास लॉन में धरना जारी है। निलंबित सांसदों ने परिसर में रातभर प्रदर्शन किया। ऐसे मेन धरने पर बैठे सांसदों के लिए सुबह-सुबह राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश उनके लिए चाय लेकर वहां पहुंचे।

कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा ने समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए कहा, “हरिवंश जी ने कहा कि वह एक सहयोगी के रूप में हमसे मिलने आए थे, न कि राज्यसभा के उपसभापति के रूप में। वह हमारे लिए कुछ चाय और नाश्ता भी लाए थे। हमने अपने निलंबन के विरोध में कल यह धरना प्रदर्शन शुरू किया। हम पूरी रात यहां रहे हैं।”

उधर, न्यूज एजेंसी ANI के मुताबकि राज्यसभा में हुए हंगामे से आहत उपसभापति हरिवंश एक दिन का उपवास रखेंगे। राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को लिखे खत में हरिवंश ने कहा कि वह सदन में हुए हंगामे से आहत हैं और रात भर सो भी नहीं सके। उन्होंने कहा कि सदन में लोकतंत्र के नाम पर सदस्यों द्वारा हिंसक व्यवहार हुआ। आसन पर बैठे व्यक्ति को भयभीत करने की कोशिश हुई। उच्च सदन की हर मर्यादा और गरिमा की धज्जियां उड़ाई गईं। सदन में माननीय सदस्यों ने नियम पुस्तिका फाड़कर मेरे ऊपर फेंकी। कागज के रोल बनाकर आसन तक फेके गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “बिहार की धरती ने सदियों पहले पूरे विश्व को लोकतंत्र की शिक्षा दी थी। आज उसी बिहार की धरती से प्रजातंत्र के प्रतिनिधि बने श्री हरिवंश जी ने जो किया, वह प्रत्येक लोकतंत्र प्रेमी को प्रेरित और आनंदित करने वाला है। यह हरिवंश जी की उदारता और महानता को दर्शाता है। लोकतंत्र के लिए इससे खूबसूरत संदेश और क्या हो सकता है।

उन्होने आगे कहा, मैं उन्हें इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं। हर किसी ने देखा कि दो दिन पहले लोकतंत्र के मंदिर में उनको किस प्रकार अपमानित किया गया, उन पर हमला किया गया और फिर वही लोग उनके खिलाफ धरने पर भी बैठ गए। लेकिन आपको आनंद होगा कि आज हरिवंश जी ने उन्हीं लोगों को सवेरे-सवेरे अपने घर से चाय ले जाकर पिलाई।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles