roto

roto

हीरा व्यवसायी नीरव मोदी के बाद अब एक और कारोबारी विक्रम कोठारी विभिन्न बैंकों को 800 करोड़ रुपये का चूना लगाकर देश छोड़ कर फरार हो गया है. कोठारी रोटोमैक पेन कंपनी का मालिक है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, कोठारी ने देश के पांच बड़े बैंकों से करीब 800 करोड़ रुपए का लोन लिया हुआ था. उसने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से 485 करोड़ रुपए, इलाहाबाद बैंक से 352 करोड़ का लोन लिया था. इसके अलावा उसने बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा और इंडियन ओवरसीज बैंक से भी लोन लिया था.

लोन लेने के एक साल बाद भी रोटोमैक कंपनी के मालिक ने न तो लोन का पैसा चुकाया है और न ही ब्याज का पैसा चुकाया. इसी बीच मीडिया में विक्रम कोठारी के भारत छोड़कर फरार होने की खबर है. कानपुर सिटी सेंटर रोड स्थित कोठारी के ऑफिस में भी पिछले कुछ हफ्तों से ताला लगा हुआ है.

हालांकि कंपनी की और से कोठारी के भागने की खबर को खारिज किया गया है. खुद कोठारी ने कहा, ‘मैं कानपुर का वासी हूं और मैं शहर में ही रहूंगा. हालांकि कारोबारी काम की वजह से मुझे विदेश यात्राएं भी करनी होती हैं.’ इस मामले में इलाहाबाद बैंक के मैनेजर राजेश गुप्ता ने कहा है कि अगर लोन नहीं चुकाया गया तो कोठारी की प्रॉपर्टी को सील कर दिया जाएगा.

ध्यान रहे इससे पहले नीरव कोठारी और और उसका अंकल मेहुल चौकसी पंजाब नेशनल बैंक के 11400 करोड़ रुपए लेकर फरार हो चुके है. वहीँ इन दोनों से पहले शराब कारोबारी विजय माल्या करीब 7 हजार करोड़ रूपये लेकर फरार हुआ है. इसके अलावा ललित मोदी भी फरार है. जिस पर 425 करोड़ रुपये के फेमा के उल्लंघन का आरोप है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?