भारत में भी मिलना शुरू हो गई रोहिंग्या मुस्लिमों को हिंसा की धमकियाँ

6:16 pm Published by:-Hindi News

दुनिया के सबसे पीड़ित अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुस्लिम समुदाय अपनी जान बचाते हुए शरणार्थी के रूप में भारत पहुंचे थे. लेकिन अब उनके सामने फिर से वहीँ हालात पैदा होने वाले है, जो उनके सामने म्यांमार में पेश आये थे. दरअसल  जम्मू में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिमों को जम्मू चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की और से धमकी दी गई हैं.

जम्मू चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज रोहिंग्या मुसलामानों को एक महीने के भीतर शहर से निकलने की धमकी दी हैं. साथ ही धमकी दी गई हैं कि अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उनके साथ हिंसा से काम लिया जाएगा.

सीसीआई जम्मू के अध्यक्ष राकेश गुप्ता ने शुक्रवार को यहां संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि हम रोहिंग्या और बांग्लादेशी नागरिकों को जम्मू से निकालने के लिए राज्य और केंद्र सरकार को एक महीने का समय देते हैं. हमारी यह भी मांग है कि जिनकी जमीन पर ये लोग रहते हैं, वहां पर सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) लागू किया जाए’

उन्होंने धमकी देते हुए कहा कि अगर सरकारें ऐसा करने में विफल हुई तो चैंबर इस रोहिंगयाई कम्युनिटी के खिलाफ हिंसा शुरू करेगी. उन्होंने रोहिंग्या कम्युनिटी पर नशीले पदार्थों की तस्करी करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 370 के अनुसार यह रोहिंग्या नागरिक यहां नहीं रह सकते.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें