Thursday, August 5, 2021

 

 

 

दिल्ली हिंसा: BJP अल्पसंख्यक इकाई के उपाध्यक्ष ‘अख्तर रजा’ का भी दंगाइयों ने जला डाला घर

- Advertisement -
- Advertisement -

दिल्ली में हुई मुस्लिम विरोधी हिंसा में भाजपा के अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष अख्तर रजा का घर भी दंगाईयों ने जला दिया। बीजेपी (BJP) नेता ने कहा कि पूर्वोत्तर दिल्ली में फैली हिंसा के दौरान उसके और उसके कुछ रिश्तेदारों के घरों को आग लगाकर जला दिया गया।

रज़ा ने एजेंसी को बताया कि मंगलवार शाम चार-पांच बजे से ही भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। करीब सात-आठ बजे भीड़ ने धार्मिक उन्मादी नारे लगाए और हमले करने शुरू कर दिए। भीड़ ने मेरा और रिश्तेदारों के तीन घर जला दिये। उन्होंने कहा, “मैने पुलिस को कॉल की थी लेकिन पुलिस ने कहा कि भीड़ तो सभी जगह इकट्ठा हो रही है। पुलिस ने हमसे कहा कि आप डरो नहीं कुछ नहीं होगा।”

अख्तर रजा ने पीटीआई से बातचीत में कहा, “भीड़ धार्मिक नारे लगा रही थी…कुछ देर बाद उन्होंने घरों में आग लगानी शुरू कर दी…इस इलाके में मेरे और मेरे तीन रिश्तेदारों के अलावा मुसलमानों के 19 घर हैं…सभी को जला दिया गया।”

अख्तर रजा ने आरोप लगाया कि अधिकांश उपद्रवी बाहरी थे। रजा ने बताया कि वह अपने परिवार के 12 सदस्यों के साथ अपने जलते घर से भाग रहा था। इस दौरान भीड़ द्वारा उन पर पथराव किया गया। अख्‍तर ने बताया कि उन्‍होंने पुलिस की मदद मांगी लेकिन बताया गया कि जवान कम थे।

अख्तर रजा ने कहा कि हिंसा के दौरान उन्होंने जब पुलिस से मदद मांगी तो पुलिस ने कहा कि उनके पास स्टाफ की कमी है। अख्तर रजा ने कहा, “मैंने पुलिस की मदद मांगी तो कहा गया कि हमारे पास फोर्स नहीं है, मुझे पार्टी से भी कोई कॉल नहीं आया है न ही कोई मदद मिली है लेकिन मुझे न्याय का भरोसा मिला है।”

रजा का घर पूरी तरह से जल चुका है। घर के आगे की दीवार, जिसे देख वे कभी फूले नहीं समाते थे, काली हो चुकी है। जिस समय दंगाईयों ने उनके घर में आग लगाया, उस समय वे अपने परिवार और चचेरे भाई जुल्फिकार के साथ वहां मौजूद थे।

रजा पिछले पांच साल से बीजेपी से जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा, “दंगे के बाद बीजेपी से जुड़े किसी व्यक्ति ने मुझे फोन नहीं किया। न तो किसी तरह की सहायता की गई और न ही और कोई मदद।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles