सुकमा हमलें को लेकर नक्सलियों ने एक ऑडियो जारी किया हैं. जिसमे उन्होंने इस हमलें को आदिवासी महिलाओं के साथ किये गए कथित यौन उत्पीड़न का बदला करार दिया.

इस क्लिप में माओवादियों के प्रवक्ता ने कहा है कि नक्सलियों ने यह हमला सुरक्षा बलों की ओर से की जा रही कार्रवाई के विरोध में किया गया है.  18 मिनट से ज्यादा के इस ऑडियो में कहा कि इस हमले को अंजाम देने वाले कॉमरेड, कमांडर और आम जनता जिनके कारण यह संभव हो सका, उन्हें लाल सलाम.

उन्होंने कहा, आम जनता को सुविधा पहुंचाने के नाम पर जंगल में लूट और आदिवासियों को वहां से भगाने की साजिश रची जा रही है. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के दंडकारण्य ज़ोनल स्पेशल कमेटी के प्रवक्ता विकल्प ने कहा कि यह हमला सुरक्षा बलों और सरकार के लिए जवाब था.

प्रवक्ता ने नक्सलवादियों की सैन्य शाखा को बधाई देते हुए कहा कि हमले को आदिवासी महिलाओं के खिलाफ सुरक्षा बलों द्वारा किए गए यौन उत्पीड़न के खिलाफ प्रतिशोध के रूप में देखा जाना चाहिए. यह हमला उन आदिवासी महिलाओं की गरिमा की रक्षा के लिए था जिनका सुरक्षा बल द्वारा यौन उत्पीड़न किया जा रहा है.

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 26 जवान शहीद हो गये थे. साथ में जवानों के गुप्तांग भी काटे जाने की खबर भी थी लेकिन क्सलियों ने इस खबर का खंडन करते हुए कहा, यह कॉरपरेट मीडिया का दुष्प्रचार है. हम किसी के भी शरीर के साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं करते हैं. यह झूठा प्रचार किया जा रहा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?