Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

मोदी सरकार पर भड़का रिटायर्ड मेजर जनरल, कहा – 2014 से पहले मैंने दो बार की है सर्जिकल स्ट्राइक

- Advertisement -
- Advertisement -

काँग्रेस शासन के 6 सर्जिकल स्ट्राइक के दावों को झूठा करार देने पर रिटायर्ड मेजर जनरल एजेबी जैनी काफी भावुक और गुस्से में दिखाई दिए। उन्होने दावा किया कि मोदी सरकार से पहले खुद वह दो बार सर्जिकल स्ट्राइक का हिस्सा रहे हैं।

न्यूज24 टीवी चैनल पर एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे रिटायर्ड मेजर जनरल ने कहा, “कौन कहता है पहले सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई है। दो तो मैंने खुद की हैं। 1971 में पुंछ सेक्टर के अटिया इलाके में और दूसरा म्यांमार बॉर्डर पर।” इसके बाद मेजर जनरल (रिटार्यड) एजेबी जैनी ने अपने मोबाइल फोन में उस ऑपरेशन के हीरो मेजर खान की तस्वीर अपने मोबाइल फोन में जूम करके दिखाई और बताया कि उन्हें वीर चक्र से सम्मानित भी किया गया था।

रिटायर्ड मेजर जनरल ने इसके बाद नागालैंड में भी म्यांमार सीमा पर सर्जिकल स्ट्राइक करने का दावा किया। इस दौरान एजेबी जैनी काफी भावुक और गुस्से में दिखाई दिए और राजनेताओं के उन दावों के प्रति नाराजगी भी जाहिर की, जो कहते हैं कि मोदी सरकार से पहले सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई।

बता दें कि 2 मई को काँग्रेस राजीव शुक्ला ने भी एक प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमे उन्होने UPA के समय की 6 सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी दी थी।

शुक्ल के मुताबिक पहली सर्जिकल स्ट्राइक 19 जून 2008 को असम राइफल्स, गोरखा रेजीमेंट ने भत्तल सेक्टर, पुंछ में की। दूसरी स्ट्राइक 30 अगस्त और एक सितंबर 2011 को शारदा सेक्टर में राजपूत और कुमायूं रेजीमेंट ने की। तीसरी स्ट्राइक छह जून 2013 को सावन पात्रा चेकपोस्ट पर हुई। चौथी स्ट्राइक 27-28 जुलाई 2013 को नाजपीर सेक्टर में हुई। पांचवा सेक्टर छह अगस्त 2013 को नीलाम वैली में हुई। वहीं छठीं सर्जिकल स्ट्राइक 14 जनवरी 2014 को हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles