प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट में रिलायंस कंपनी की हिस्सेदारी होगी. इसकी पुष्टि खुद कंपनी के प्रमुख अनिल अंबानी ने की है.

उन्होंने कहा कि  “हम कई जापानी कंपनियों से संयुक्त उपक्रम के माध्यम से जुड़े हुए हैं और हम एक लाख करोड़ रुपये की इस अति महत्वाकांक्षी परियोजना में भागीदारी करेंगे.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अंबानी ने कहा, “मुंबई में बांद्रा-वर्सोवा सी लिंग के लिए बोलीदाता के रूप में हमें चुना गया है, और मेट्रो ठेकों के लिए भी हमे आश्य पत्र प्राप्त हुए हैं.” ध्यान रहे पीएम मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने 14 सितंबर को मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी थी.

उन्होंने बताया “इसके अतिरिक्त हमने मुंबई-नागपुर राजमार्ग परियोजना के लिए भी निविदा हासिल कर ली है.” अंबानी के अनुसार सरकार उनकी कंपनी को जल्द ही 50,000 करोड़ रुपये कीमत की छह पनडुब्बियों के विनिर्माण का ठेका भी दे सकती है.

उन्होंने कहा, “पीपावाव के अधिग्रहण के बाद भारत में मात्र हम दो कंपनियां हैं, जो पनडुब्बियों के निर्माण के लिए सरकार की रणनीतिक साझेदारी कार्यक्रम में भागीदारी करने की स्थिति में हैं.” उन्होंने कहा, “हम मानते हैं कि रक्षा क्षेत्र एक उदयकाल वाला क्षेत्र है. देश की 90 प्रतिशत रक्षा उपकरणों का आयात किया जाता है।.”

Loading...