विवादित सलाफी स्कॉलर जाकिर नाईक के मामले में इंटरनेशनल एजेंसी इंटरपोल ने शनिवार को बड़ा झटका देते हुए भारत सरकार के रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के अनुरोध को ठुकरा दिया है.

इंटरपोल ने NIA की ओर से दिए गए सबूतों को नाकाफी बताया. जाकिर के वकील को 11 दिसंबर 2107 को एक पत्र भेजा जिसमे कहा गया भारतीय एजेंसियों की तरफ से उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के आग्रहों को पर्याप्त सबूतों के अभाव में खारिज कर दिया गया है.

इसी के साथ पत्र में ये भी जानकारी दी गई कि दुनियाभर में फैले अपने ऑफिसर्स को जाकिर का डाटा डिलीट करने के भी निर्देश दे दिए गए है. ध्यान रहे भारतीय एजेंसियों ने डॉ. जाकिर नाईक को भारत प्रत्यर्पित कराने के प्रयास में रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का आग्रह किया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बारें में भारतीय जांच एजेंसी NIA ने कहा है कि जाकिर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस की रिक्वेस्ट डालने के दौरान चार्जशीट नहीं फाइल की गई थी. इसी के चलते इंटरपोल ने उनकी रिक्वेस्ट ठुकरा दी। हालांकि, अब मुंबई NIA कोर्ट में चार्जशीट डालने के बाद इंटरपोल को फ्रेश रिक्वेस्ट भेजी जाएगी.

Loading...