Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

हज़रत आईशा सिद्दीका की शान में गुस्ताखी, वसीम रिजवी के खिलाफ रज़ा एकेडमी ने की शिकायत

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई: उत्तर प्रदेश के शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिज़वी पर एक बार फिर से मुस्लिमों की भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा है। इस सबंध में रज़ा एकेडमी ने मुंबई पुलिस से शिकायत की है। शिकायत में कहा गया कि वसीम रिजवी ने उम्मुल मोमीनीन हजरत आईशा सिद्दीका और सहाबा ए किराम की शान में गुस्ताखी की है।

रज़ा एकेडमी के प्रमुख अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी साहब ने बताया कि वसीम रिजवी लगातार इस्लाम धर्म के खिलाफ अपमानजनक बयान दे रहा है। पहले उसने कुरान की बेहूरमती की। जिसको लेकर उसको न केवल सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई बल्कि उस पर जुर्माना भी लगाया। फिर उसने सहाबा ए किराम की शान में गुस्ताखी की। अब उसने उम्मुल मोमीनीन हजरत आईशा सिद्दीका को लेकर विवादास्पद बयान दिया है।

उन्होने कहा कि उम्मुल मोमीनीन हजरत आईशा सिद्दीका का इस्लाम में बहुत ही बड़ा मर्तबा है। बावजूद वसीम रिजवी ने उनकी शान में गुस्ताखी की और इस गुस्ताखी का ऑडियो सोशल मीडिया पर भी डाला। इतना ही नहीं यूट्यूब पर फर्जी न्यूज़ चैनल के माध्यम से वायरल भी कराया। उन्होने मुंबई पुलिस को लिखे पत्र में वसीम रिजवी सहित यूट्यूब चैनल और यूट्यूब पर भी कार्रवाई की मांग की।

वहीं सय्यद मोईन मियां साहब ने कहा कि आगामी यूपी चुनाव के मद्देनजर साजिश के तहत वसीम रिजवी मुस्लिमों को भड़काने का काम कर रहा है। जिससे न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि देश का माहौल बिगड़े और मतों का धुर्वीकरण किया जा सके। इसके लिए वसीम रिजवी को भगवा संगठनों का पूरा समर्थन है और उत्तर प्रदेश सरकार भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। हालांकि अन्य राज्यों में माहौल तनावपूर्ण है। ऐसे में सभी राज्य सरकारों को वसीम रिजवी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए है।

महाराष्ट्र के सबंध में उन्होने कहा कि राज्य के कई जिलों में रिजवी के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज है। बीते दिनों ही कुरान की बेहूरमती के मामले में जाइंट कमिश्नर से मिलकर कार्रवाई की मांग की गई थी। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होने राज्य की उद्धव सरकार से वसीम रिजवी के खिलाफ एनएसए के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles