पत्रकार और टीवी एंकर रवीश कुमार के भाई ब्रजेश पाण्डेय ने नाबालिग दलित लड़की द्वारा यौन शोषण का आरोप लगाए जाने के बाद मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया हैं. पांडेय बिहार कांग्रेस के उपाध्यक्ष पद पर हैं. इसीके साथ रिटायर्ड आईएएस ऑफीसर के बेटे निखिल प्रियदर्शिनी के खिलाफ भी मामला दर्ज कर लिया गया है.

दलित लड़की, एक पूर्व कांग्रेसी मंत्री की बेटी है. इस मामले में पटना के अनुसूचित जाति और जनजाति पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया गया. बिहार के सीआईडी इंस्पेक्टर जनरल (कमजोर तबका प्रकोष्ठ) अनिल किशोर यादव ने इस बात की पुष्टि की हैं.

पूर्व मंत्री की बेटी ने ऑटो मोबाइल्स कारोबारी निखिल प्रियदर्शी सहित उसके दोस्त संजीत व ब्रजेश पांडेय पर सेक्स रैकेट संचालन का आरोप भी लगाया. पीड़िता ने हिन्दुस्तान से खुलासा किया है कि प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष ब्रजेश कुमार पांडेय उसे दिल्ली ले जाना चाहते थे. पीड़िता ने ऐसा करने से मना कर दिया. इस पर निखिल बौखला गया था. निखिल उसे कई नेताओं के साथ भेजने की कोशिश करता था. उसने कई बार पीड़िता के साथ मारपीट भी की जिससे उसके शरीर के अलग-अलग हिस्सों में चोट आयी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पांडेय ने अपना इस्तीफा प्रदेश कांग्रेस कमिटी अध्यक्ष अशोक चौधरी को भेजा है. इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि उन्हें फंसाया गया है. पांडेय ने लिखा है, ‘मेरा नाम न तो लड़की की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में है और न ही पीड़ित की ओर से सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज कराए गए बयान में. बाद में एक सुनियोजित साजिश के तहत मेरा नाम जानबूझकर लिया गया है.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह मंगलवार की शाम पीड़िता के घर पहुंचे. उससे और पीड़िता के पिता से बात की. कांग्रेस नेता पीड़िता के घर से केस से जुड़े कुछ कागजात ले गए. उन्होंने पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद करने की बात कही. करीब आधे घंटे तक समय बिताने के बाद सदानंद वहां से निकल गए.

Loading...