ravishank

ravishank

अयोध्या विवाद को लेकर सुलह-समझोते का हवाला देने वाले आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर का कहना है कि बाबरी मस्जिद की जमीन पर सिर्फ राम मंदिर ही बनेगा.

उन्होंने कहा कि कोर्ट से राम जन्मभूमि विवाद का कोई हल नहीं निकल सकता क्योंकि कोर्ट के फैसले से किसी एक पक्ष को हार स्वीकार करनी पड़ेगी, जो पक्ष हारेगा, वो अभी तो मान जायेगा लेकिन कुछ समय बाद फिर बवाल शुरू हो जायेगा. उन्होंने कहा कि शीघ्र ही सौहार्दपूर्ण माहौल में कोर्ट के बाहर विवाद हल होने की पूरी उम्मीद है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

श्रीश्री रविशंकर ने अप्रत्यक्ष रूप से मुस्लिमों को धमकाते हुए कहा कि मुसलमानों को चाहिए कि वह विवादित जमीन का टुकड़ा हिंदुओं को उपहार दे दें और कोर्ट केस वापस ले लें, यह दोनों के लिए अच्छा रहेगा.

श्रीश्री रविशंकर के इस बयान के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर भी प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है. एक यूजर ने कहा कि सुलह-समझोते का तो सिर्फ दिखावा है. मकसद तो मुस्लिमों से बाबरी मस्जिद की जमीन छिनना है.

वहीँ दुसरे यूजर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में हार को देखते हुए बीजेपी और संघ को अपना भविष्य भी डूबता हुआ नजर आ रहा है. ऐसे में अब कोर्ट का बाहर सेटलमेंट करने की कोशिश की जा रही है.

Loading...