Wednesday, August 4, 2021

 

 

 

लॉक डाउन में तुर्की सीरियल ‘Diriliş Ertuğrul’ बना मुस्लिमों की सबसे बड़ी पसंद

- Advertisement -
- Advertisement -

कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है तो दूसरी और धार्मिक आयोजने के नाम पर भीड़ जमा होना जारी है। ताजा मामला मामला महाराष्ट्र के सोलापुर का है जहां पर एक रथयात्रा का आयोजन किया गया जिसमें हजारों लोगो ने भाग लिया।

इस रथ यात्रा में लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई गई जब पुलिस ने उन्हें रोकने कि कोशिश की तो लोगों ने पथराव शुरू कर दिया जिसमे कई पुलिस वाले घायल हो गए। पत्थरबाजों पर मामला दर्ज कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि 100 से ज़्यादा लोगों पर मामला दर्ज हुआ है। 22 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

गौरतलब है कि सोलापुर के वागदरी गांव में ग्रामदेवता परमेश्वर की पूजा की जाती है। यह त्योहार पांच दिनों का होता है। इसमें रथयात्रा निकाली जाती है। लेकिन देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले और लॉकडाउन की वजह से रथयात्रा निकाले जाने पर रोक लगा दी गयी थी।

हालांकि जिस दिन रथयात्रा निकाली जानी थी उस दिन पुलिस ने गांव के कुछ लोगों को रथ पूजा करने की इजाजत दे दी। जिसके बाद लोगों ने रथ पूजा शुरू की। जैसे ही पूजा शुरू की गयी देखते ही देखते लोगों की भीड़ वहां जमा होने लगी और लोग रथयात्रा निकालने लगे। यह देख पुलिस ने उन्हें रोका तो उनपर पथराव किया गया।

ऐसा ही एक मामला शिरडी में भी देखने को मिला जब मंदिर के सीईओ और उसके परिवार वालों ने राम नवमी की पूजा का आयोजन किया जिसके चलते सोशल डिस्टेंस के मानकों का उलंघन किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles