नए कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों आंदोलन के बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा दावा करते हुए कहा कि इसी महीने आंदोलन के समर्थन में एक बीजेपी सांसद का इस्तीफा होगा, जितने बीजेपी के सांसद हैं, उतने दिन यह आंदोलन चलेगा। हालांकि टिकैत ने अभी उस सांसद के नाम का खुलासा नहीं किया है।

राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार कहीं खो गई है। सरकार ने एक नई मंडी का पता लगा दिया है। पार्लियामेंट में पता लग गया है कि नई मंडी पार्लियामेंट है। अगर हमसे ये अपनी फसल कहीं भी बेचने की बात कर रहे हैं तो हम पार्लियामेंट जाकर ही फसल बेचेंगे।

टिकैत ने ये भी कहा कि हमारी पंचायत राजस्थान और मध्य प्रदेश के रीवा, जबलपुर, उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में बलिया और कर्नाटक में होगी। बंगाल में हम होली के बाद ही जाएंगे। बीजेपी जहां चुनाव लड़ेगी उसे हराने जाएंगे। हम बंगाल के किसान की लड़ाई लड़ने जाएंगे।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही मुजफ्फरनगर की मीरापुर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी विधायक अवतार सिंह भडाना ने इस्तीफा दे दिया था। कहा जाता है कि उन्होंने यह इस्तीफा किसान आंदोलन के समर्थन और कृषि कानूनों के विरोध में दिया है।

राकेश टिकैत ने अपने एक ट्वीट में कहा है कि रोटी पर व्यापार बर्दाश्त नहीं, अनाज तिजोरी में बंद नहीं होने देंगे। भूख पर व्यापार करने वाले लोग कान खोल कर सुन लें। भूख पर रोटी की कीमत तय नही होने देंगे। रोटी को तिजोरी में बंद नहीं होने देंगे और ना ही रोटी को बाजार की वस्तु बनने देंगे।