aanand sharma

aanand sharma

आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जारी बहस पर कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि आज़ादी के बाद पहली बार यह सबसे खराब भाषण रहा. पुराने वादों का कोई जिक्र नहीं, और नए वादों की बात की जा रही है. उन्होंने कहा कि राजनीति में आलोचना और वाद विवाद बेहद जरूरी है. लोकसभा में पक्ष प्रतिपक्ष जरूरी है. उन्होंने कहा कि, देश में कांग्रेस मुक्त भारत की बात की जा रही है, गुजरात को मुक्त नहीं कर सके, देश को कैसे मुक्त करोगे.

कांग्रेस सांसद कहा कि हम प्रधानमंत्री से प्रमाण पत्र नहीं चाहते, पर हमारे अंदर संस्कार है कि हम कभी बीजेपी मुक्त भारत बनाने की बात नहीं करेंगे. आनंद शर्मा ने कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण में पिछले साढ़े तीन साल का हिसाब नहीं है. भाषण से ऐसा लग रहा है कि सरकार यह सोच रही है कि 2014 में जो वादे किए गए थे, वह सभी पूरे हो चुके हैं. सरकार के वादे असल जमीनी हकीकत बयाँ नहीं कर रहे है. राष्ट्रपति के अभिभाषण प्रेरणाजनक होते थे.  जिनमें युवाओं के भविष्य और बच्चों की बात होती थी. जबकि इस बार के अभिभाषण में योजनाएं कब पूरी होंगी इसका ज़िक्र भी नहीं किया गया है.

आनंद शर्मा कि संविधान के मुताबिक, हर सरकार सिर्फ पांच साल के लिए आती है और आप अभी से ही 2022 के बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि, आपकी गिनती कमजोर है. 2019 में लोग तय करेंगें कि 2022 का हिसाब कौन देगा. 2019 में आपकी शायद इच्छा पूरी न होगी.

आनंद शर्मा ने कहा कि बीजेपी सरकार की मंशा है कि उससे हिसाब मत मांगो. ये पहला अभिभाषण है जिसमें सुरक्षा हालात का जिक्र नहीं, विदेश नीति, कूट नीति का जिक्र नहीं. चीन से क्या बात हुई, डोकलाम की समस्या सुधर गई, क्यों वहां निर्माण हो रहा है. नेपाल में क्या हो रहा है, देश चारो ओर से घिर रहा है, मालदीव में क्या हो रहा है. इस पर कोई बात नहीं कही गई.

आनंद शर्मा ने कहा कि IIT बनाने की सोच नेहरू की थी. उनके दौर में देश में पांच IIT बन गए थे. अमित शाह के जन्म से दो साल पहले नेहरू ने अहमदाबाद में IIT बना दिया था. देश का पहला IIT 1951 में बनाया गया था. देश का पहला और एकलौता नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन को नेहरू ने 1961 में बनाया था. 1954 में एटोनॉमी डिपार्टमेंट बनवाया था.

यूपीए के दौर में मनमोहन के वक़्त 8 IIT बने. 7 IIM बने, चार IIS बने, चंद्रयान 2008, मंगलायन 2013 में रवाना हुए. इसे आप स्वीकार ना करके इतिहास, संस्थाओं, देश और वैज्ञानिकों का आप अपमान कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यूपीए के 10 साल में 7.9 फीदी जीडीपी थी.

अप्रैल 2009 में जी20 की विशेष बैठक में मनमोहन को बुला कर पूछा गया था कि इस मंदी से कैसे निपटा जाए. उन्होंने कहा कि 2014 में 480 डॉलर की जीडीपी. यूपीए के समय में एक दशक में जीडीपी को चार गुना किया. जबकि आज जीडीपी की क्या हालत है यह सबको पता है.

उन्होंने कहा कि, नेहरू सबसे लंबे समय तर अंग्रेजों की जेल में रहे. वह 14 साल तक जेल में रहे. इंदिरा राजीव देश के लिए शहीद हुए, देश को गर्व है, पर आप को नहीं है. शर्मा ने कहा कि आपने कहा, बड़ी प्रभावशाली आर्थिक प्रगति हो रही है, लेकिन कुछ दिख नहीं रहा है. निवेश 34 से 26.9, उदोय्ग कर्जा 63 साल का सबसे कम है, निर्माण नहीं. मेक इन इंडिया के विज्ञापन पर खर्च है, एफडीआई की नीति बदल दी, सीसीएस मंजूरी देगी उच्च तकनीक का, पूर्ण सुरक्षा की बात करते हैं, एफडीआई इन डिफेंस 1 करोड़ 13 लाख, 320 बिलियन डॉलर का एक्सपोर्ट, जहां हम थोड़कर गए थेस वहबां पहुंचा दगें तो बहुत होगा.

शर्मा ने कहा कि आड पारदर्शिता नहीं है, राफेल डील की 2005 से बाच चल रही थी, ग्लोबल टेंडर थे, राफेल जेट फाइटर, यूरोफाइटर टाइफून, ग्रिपन जहान शॉर्टलिस्ट हुए थे. देश की सुरक्षा से समझौता हुआ है. राफेल जेट सबसे बड़ा घोटाला है. 126 फाइटर जेट, 18 बने बनाए, 108 भारत में एचएएल बनाएगा. तकनीक मिलेगी, 36 हजार करोड़ का ऑफसेट एचएएल को मिलेगा, यह करार था.

उन्होंने कहा कि 2015 में बात बदली, 1 राफेल 526 करोड़ थी, आपकी सरकार आई, पीएम 8 अप्रैल 2015 को फ्रांस गए, विदेश सचिव ने कहा था कि पीएम रक्षा सौदे की खरीद नहीं करते. 10 अप्रैल को घोषणा कर दी कि 36 जहाज खरीदेंगे, मेक इन इंडिया, तकनीक ट्रांसफर होगा, 1570 करोड़ निजी क्षेत्र को लाएंगे. एचएएल को मिलने वाला निजी कंपनी को गए, ऑफसेट भी गया, कतर ने 12 राफेल 694 करोड़ के खरीदे और हम 1570 में खरीद रहे है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?