नई दिल्ली – गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को अपने आवास पर मुस्लिम धर्मगुरुओं से मुलाकात की है। इस मुलाकात में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के भारत में बढ़ते खतरे समेत आतंक और अल्पसंख्यक समुदाय से जुड़ी समस्याओं पर बातचीत हुई। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी इस मीटिंग में उपस्थित रहे।

राजनाथ सिंह के सरकारी आवास 17 अकबर रोड पर यह मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली। समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता कमाल फारुकी भी मीटिंग में शामिल हुए। फारुकी ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा समेत विभिन्न मसलों पर बातचीत की गई।

फारुकी ने कहा अल्पसंख्यकों से जुड़ी समस्याओं पर भी चर्चा की गई। देश के सभी मुस्लिम संगठन इस्लामिक स्टेट और आतंकवाद के खिलाफत में खड़े हैं। फारुकी ने कहा कि देश के लिए सभी कुर्बानी देने को तैयार हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

माना जा रहा है कि भारत में आईएस की बढ़ती धमक के मद्देनजर गृह मंत्री ने मुस्लिम धर्मगुरुओं से मुलाकात की है। हाल के दिनों में पूरे देश से ऐसे कई युवाओं को हिरासत में लिया गया है जिनपर आईएस से कनेक्शन रखने का आरोप है।

फारुकी ने बताया कि मुस्लिम धर्मगुरुओं ने संदिग्धों की गिरफ्तारी को लेकर भी सवाल उठाए। गृह मंत्री को बताया गया कि 14-14 साल जेल में बिता लेने के बाद साबित हो रहा है कि वे निर्दोष थे। ऐसे में उनकी पूरी जिंदगी चौपट हो जा रही है। फारुकी ने कहा कि गृह मंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया है कि सारे मुद्दों को गंभीरता से लिया जाएगा। भविष्य में भी ऐसी बैठकें आयोजित की जाएंगी। हाल में ही राजनाथ सिंह ने आईएस की बढ़ती गतिविधियों के मद्देनजर 13 सुरक्षा एजेंसियों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात की थी।

Rajnath Singh Discusses National Security Minority Issues With Muslim Community Leaders

Loading...