नई दिल्ली | आम जिन्दगी में इन्टरनेट के बढ़ते प्रभाव ने लोगो को एक नया हथियार थमा दिया है. इस नए हथियार का नाम है ‘ट्रोल’. अब लोग रुबुरु होकर किसी की आलोचना नही करते बल्कि इन्टरनेट के माध्यम से उसको जलील करने का कोई मौका हाथ से नही जाने देते. इसलिए ज्यादातर सेलेब्रिटी आजकल सोशल मीडिया पर कुछ भी लिखने से पहले कई बार सोचते है. उनको पता है की सोशल मीडिया पर बैठी एक फ़ौज उनको काउंटर करने के लिए तैयार बैठी है.

बुधवार को मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई भी एक ऐसी ही ट्रोल सेना का शिकार बने. जैसे ही उन्होंने मोदी सरकार की आलोचना करने वाला ट्वीट किया, वैसे ही सोशल मीडिया पर बैठी ट्रोल सेना उन पर टूट पड़ी. इन लोगो ने ट्विटर पर राजदीप को खूब खूब खरी खोटी सुनाई. एक यूजर ने तो उन पर नफरत को बढ़ावा देने तक का आरोप लगा दिया. इसके अलावा हाल ही में बीजेपी प्रवक्ता बने तेजिन्द्र बग्गा ने भी राजदीप पर हमला बोला.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल राजदीप ने एक खबर का लिंक शेयर करते हुए लिखा की और एक रिपोर्ट जो सरकार को शर्मिंदा कर सकती है. इस खबर मे बताया गया है आल इंडिया रेडियो ने त्रिपुरा के सीएम माणिक सरकार का 15 अगस्त के भाषण का प्रसारण करने से इनकार कर दिया. आल इंडिया रेडियो के इस कदम की आलोचना में राजदीप ने यह ट्वीट किया. इस पर बीजेपी प्रवक्ता तेजिन्द्र बग्गा ने राजदीप को जवाब देते हुए एक स्क्रीन शॉट शेयर किया.

इस ट्वीट में तेजिंदर ने लिखा,’  ये स्क्रीनशॉर्ट राजदीप सरदेसाई को जरूर शर्मिंदा करेगा, अगर शर्म बची होगी तो.’ इसके बाद तेजिंदर ने एक आल इंडिया रेडियो की ऑडियो क्लिप भी साझा की. इस ट्वीट में तेजिंदर ने राजदीप से माफ़ी की मांग करते हुए लिखा की इस ऑडियो को सुनने के बाद उम्मीद करता हूँ की आप माफ़ी मांगेंगे. उधर एक यूजर ने राजदीप के पत्रकार होने पर ही सवाल खड़े करते हुए कहा की राजू क्या तुम सही में पत्रकार हो. ऐसा कुछ पोस्ट करने से पहले तथ्य तो देख लिया करो.

Loading...