नई दिल्ली | इंडिया टुडे के मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने दुसरे मशहूर पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर गुजरात दंगो को लेकर झूठ बोलने का आरोप लगाया है. अर्नब की एक पुरानी विडियो का जिक्र करते हुए राजदीप ने अर्नब को फेंकू बताया. उन्होंने कहा की यह विडियो देखने बाद मैं अपने काम को लेकर शर्मिंदा हूँ. हालाँकि राजदीप के आरोपो पर अर्नब की तरफ से कोई भी प्रतिक्रिया सामने नही आई है.

मंगलवार को राजदीप ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर अर्नब पर निशाना साधा. राजदीप ने अर्नब की एक पुरानी विडियो शेयर करते हुए लिखा,’ वाह, मेरे दोस्त अर्णब दावा कर रहे हैं कि गुजरात दंगों के दौरान सीएम हाउस के पास उनकी गाड़ी पर हमला हुआ था, सच यह है कि वह अहमदाबाद में हुए दंगों को कवर कर ही नहीं रहे थे.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अपने अगले ट्वीट में राजदीप ने लिखा,’ अर्नब, असम में एक कार्यक्रम में बोलते हुए गुजरात दंगो की बात कर रहे है. उस समय वहां कांग्रेस सत्ता में थी. मैं इसको देखकर हैरान हूँ.’ राजदीप यही नही रुके उन्हों अपने अगले ट्वीट में अर्नब को फेंकू बताते हुए लिखा, ‘ फेकुगिरी की भी कोई सीमा होती है लेकिन इसको देखने के बाद मैं अपने काम को लेकर शर्मिंदा हूँ.’ राजदीप ने दावा किया की विडियो में जिस घटना का जिक्र अर्नब कर रहे है वो सच है लेकिन अर्नब अहमदबाद में हुए दंगो को कवर नही कर रहे थे.

राजदीप ने बताया की उस समय वहां पर मैं और मेरे कुछ साथी मौजूद थे. सबूत के तौर पर राजदीप ने अपनी किताब पढने के लिए कहा. राजदीप ने जिस विडियो को शेयर किया उसमे अर्नब कहते हुए दिख रहे है की उस समय कुछ लोग त्रिशूल से उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ रहे थे और हमसे हमारा धर्म पूछ रहे थे. हमारे ड्राइवर को छोड़कर हम सबके पास आईडी कार्ड था. ड्राईवर के हाथ पर एक टैटू बना था जिसको देखने के बाद हमको वहां से जाने दिया गया.

Loading...