नई दिल्ली | चुनाव प्रचार के दौरान होने वाले रोड शो, भव्य रेलिया और आसमान में उड़ते हलिकोप्टर, ये सब देखकर कभी तो मन में आता ही होगा की आखिर इतना पैसा आता कहाँ से है? गरीबी के नाम पर चुनाव लड़ने वाली हमारी राजनितिक पार्टिया जब इस तरह से अमीरी का प्रदर्शन करती है तो कई सवाल जेहन में उठते है की आखिर ये रईसी में जीने वाले लोग गरीबो की लड़ाई क्या लड़ेंगे?

कुछ इसी तरह के सवाल मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने उठाये है. उन्होंने एक ट्वीट कर पुछा है ,’ भव्य रोड शोज का खर्च आखिर कौन देता है? राजनितिक पार्टिया, अमीर उधोगपति या फिर गुमनाम करदाता? क्या यह सवाल बिना ट्रोल किये पुछा जा सकता है? सरदेसाई ने यह सवाल प्रधानमंत्री मोदी के सूरत में हुए रोड शो के बाद पुछा है. इसलिए माना जा रहा है की सरदेसाई ने सीधे सीधे मोदी के रोड शो पर निशाना साधा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सरदेसाई के ट्वीट का जहाँ कुछ लोगो ने समर्थन किया है वही कुछ पार्टी समर्थको ने उनको ट्रोल करना भी शुरू कर दिया. एक यूजर दिनेश कुमार जो खुद को कर्नल बताते है ने लिखा,’ इससे पहले क्या आप बता सकते है की आपका चैनल भक्ति में डूब कर लाइव क्यों दिखता है? जरुरी खबरे छोड़कर तुम लाइव शो का टेलीकास्ट क्यों करते हो?’ इससे पहले बॉलीवुड अभिनेता और प्रोडूसर कमाल खान ने भी मोदी और बीजेपी पर निशाना साधा.

उन्होंने उड़ीसा में हुई बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक पर हुए खर्चे का ब्यौरा देते हुए ट्वीट किया की खबरों के मुताबिक बीजेपी ने उड़ीसा समिट में 180 करोड़ रूपए खर्च किये है जबकि गुजरात में हुए मोदी के रोड शो पर 12 करोड़ रूपए का खर्चा आया है. क्या यह काला धन नही है? ये असंभव है.. मालूम हो की दिल्ली में आम आदमी पार्टी पर केजरीवाल सरकार के कामकाज का विज्ञापन देने पर 97 करोड़ रूपए का जुर्माना लगाया गया है.

Loading...